हत्या के जुर्म में चार हत्याभियुक्तों को उम्रकैद

वाराणसी। जमीन विवाद मामले में वृद्ध दंपति की हत्या के मामले में मंगलवार को विशेष न्यायाधीश (एससी/एसटी एक्ट) पीके सिंह की अदालत ने चार अभियुक्तों राधेश्याम लाल,प्रताप,जगन्नाथ तथा राजेश कुमार उर्फ पप्पू को उम्रकैद की सजा सुनाई। अदालत ने प्रत्येक अभियुक्तों को एक लाख बीस हजार रुपये अर्थदंड से भी दंडित किया है। अदालत में अभियोजन पक्ष की ओर से वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी बृजेश मिश्र ने की।
अभियोजन पक्ष के अनुसार चंदौली जनपद के धानापुर थानांतर्गत नीरापुरा गांव में मोहन राम का गांव के ही निवासी राधेश्याम लाल से जमीन का विवाद चल रहा था। इसी विवाद में 22 अप्रैल 1998 को रात्रि लगभग एक बजे अभियुक्त राधेश्याम लाल, प्रताप और उसके भाई जगन्नाथ के अलावा राजेश कुमार उर्फ पप्पू ने गोली मारकर मोहन राम और उसकी पत्नी बोधा देवी की हत्या कर दी।घटना के वक्त मृतक पति-पत्नी एक ट्यूबवेल पर सोये थे। अभियुक्तों ने शव को समीप के एक कूंए में फेंक दिया। गोली की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे गांव के रामदुलार तथा एक अन्य व्यक्ति ने बल्ब के रोशनी में चारों अभियुक्तों को देखा था। मृतक के बेटे श्याम नारायण ने चारों अभियुक्तों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *