स्वास्थ्य अपर निदेशक ने मिशन इन्द्रधनुष 2.0 के तीसरे चरण का किया शुभारंभ

अभियान के तहत निःशुल्क टीकाकरण का लाभ उठाएं
वाराणसी, फरवरी । जनपद के अराजीलाइन ब्लॉक के मोहनसराय ग्राम में सोमवार को वाराणसी मण्डल के अपर निदेशक (स्वास्थ्य) डॉ बीएन सिंह ने मिशन इन्द्रधनुष 2.0 अभियान के तीसरे चरण का शुभारंभ किया। तीसरा चरण 13 फरवरी तक चलाया जाएगा। इस अवसर पर डॉ बीएन सिंह ने निर्देशित किया कि नियमित टीकाकरण से लेफ्ट आउट या ड्रॉप आउट कोई भी बच्चा इस अभियान में छूटने न पाएं। अभियान में लगाए गए सुपरवाईजरों का विशेष दायित्व निर्धारित किया जाए कि किसी कारणवश सत्र स्थल पर नहीं आने वाले बच्चों को स्थानीय मोबालईजरों की मदद से सत्र स्थलों पर लाकर टीके लगवाएँ जाएँ।
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ वीबी सिंह ने मोहनसराय में लगे सत्र स्थल का निरीक्षण किया और आवश्यक निर्देश भी दिये। मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि किसी कारणवश टीकाकरण से छूटे हुये दो वर्ष तक के 5,081 बच्चों एवं 560 गर्भवती महिलाओं को तीसरे चरण में लक्षित किया गया है। इस दौरान चारों ब्लॉकों काशी विद्यापीठ, पिंडरा, सेवापुरी और अराजीलाइन में 861 सत्र आयोजित किये जायेंगे। स्थानीय लोग क्षेत्रीय आशा के संपर्क में आकार सत्र स्थलों का पताकर टीकाकरण पहुँचें। सत्र सुबह 9 से 4 बजे तक चलाया जाएगा।
सीएमओ ने अपील की कि सरकार द्वारा चलाये जा रहे नियमित टीकाकरण कार्यक्रम में बच्चों का टीकाकरण अवश्य करायें। क्योंकि नियमित टीकाकरण कार्यक्रम के दौरान परिवारों के घर से बाहर रहने और किसी अन्य कारणवश बच्चों का टीकाकरण छूट जाता है इस कारण भारत सरकार और स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त तत्वाधन में मिशन इंद्रधनुष चलाया जा रहा है।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ वीएस राय ने बताया कि अभियान के पहले चरण में लक्ष्य के सापेक्ष 106 फीसदी बच्चों एवं 111 फीसदी गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया गया। जबकि दूसरे चरण में 165 प्रतिशत बच्चों और गर्भवती महिलाओं का 155 प्रतिशत टीकाकरण किया गया। अभियान का चौथा और अंतिम चरण दो मार्च से चलाया जाएगा। उन्होने बताया कि मिशन इंद्रधनुष अभियान के तहत डिप्थीरिया, पर्टूसिस, टिटनेस, पोलियो, मीजल्स, रूबेला, बचपन के गंभीर क्षय रोग, रोटा वायरस डायरिया, हेपेटाइटिस बी दस बीमारियों के टीके लगाए जाते हैं। इस अभियान के तहत संवेदनशील क्षेत्रों जैसे स्लम एरिया, ईट-भट्ठों एवं घुमंतू परिवारों के बच्चों और गर्भवती महिलाओं पर विशेष ध्यान देते हुए टीकाकरण कराया जा रहा है जिससे इन क्षेत्रों में निवास करने वाले परिवारों को जानलेवा बीमारियों से बचाया जा सके।


इस अवसर पर एसीएमओ डॉ पीपी गुप्ता, डिप्टी सीएमओ डॉ सुरेश सिंह, डॉ एके पांडे, प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ वाईबी सिंह, यूनिसेफ से डीएमसी मनोज कुमार, यूएनडीपी से कोल्ड चैन मैनेजर शबाना खातून, एचईओ मनोज कुमार, एआरओ गिरिजेश त्रिपाठी, प्रधान प्रतिनिधि वीरेंद्र उपाध्याय एवं एएनएम, आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मौजूद रहीं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close