बीएचयू : कोरोना मरीजों के इलाज में व्याप्त लापरवाही के विरोध में कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

वाराणसी। बीएचयू हॉस्पिटल में कोरोना मरीजों के साथ लगातार हो रहे दुर्व्यवहार तथा रहस्यमयी मौतों से उग्र कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आज विरोध मार्च निकालकर वाराणसी के मुख्य स्वास्थ चिकित्सा अधिकारी को पत्रक सौपां। कांग्रसी नेताओं का कहना था कि पिछले दिनों बीएचयू के डाफी निवासी अजय कुमार को बीएचयू के ही नर्सिंग स्कूल पास हुई दुर्घटना के बाद ट्रॉमा सेंटर में एडमिट किया गया । ट्रॉमा सेंटर से उन्हें बीएचयू के कोविड वार्ड में दूसरे तल पर एडमिट कर दिया गया जहां उनकी तबियत बिल्कुल ठीक बताई जा रही थी। अचानक अजय के बीएचयू कोविड वार्ड से गायब होने की सूचना हॉस्पिटल की तरफ से दी जाती है। अजय के गायब होने की सूचना मिलने पर परिजनों ने उस्की गुमशुदगी की सूचना लंका थाने पर दर्ज कराई । गायब होने के अगले दिन बाद ही देर शाम अजय कुमार का शव हॉस्पिटल के नाले के पास रहस्यमयी तरीके से पाया जाता है। हॉस्पिटल के डॉक्टरों से पूछे जाने पर वे उसका समुचित जवाब नही दे पाते हैं, ऊपर से शव में किडनी की जगह पर चीरे के निशान और बाद में शव के सिटी स्कैन रिपोर्ट को न देना, तथा शव को अगले दिन देने के लिए कहने के बावजूद बिना परिजनों को सूचित किये शव को जला दिया जाना संदेह पैदा करता है। इस पूरे घटनाक्रम से जुड़ी सीसीटीवी फुटेज को देखने से यह पूरा मामला रहस्यमयी लगता है । उक्त मामले को लेकर बीएचयू हॉस्पिटल तथा स्थानीय प्रसाशन की भूमिका भी संदिग्ध नजर आ रही है । मामले के इतने दिन बाद भी अभी तक कोई संतोषजनक कार्यवाही न होने की वजह से महानगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे व जिला उपाध्यक्ष राजूराम की तरफ से पीड़ित परिजनों को न्याय दिलाने के लिए संघर्ष किया जा रहा जो आगे भी चलेगा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को पत्रक देकर दोषियों के खिलाफ जांच समुचित धाराओं में तुरन्त कार्यवाही की मांग की गयी।  इस अवसर पर रमेश कुमार,अनिल कुमार,श्यामलाल, माया देवी,हीरावती,शशिकांत सागर, बृजेश कुमार समेत दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close