CRPF जवानों ने गंगा निर्मलीकरण के लिए 20 हजार मछलियों को गंगा की धारा में छोड़ा

 शहर में चलाया सैनिटाइजेशन व स्वच्छता अभियान

वाराणसी। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल पहाड़िया मंडी के जवानों ने आज गंगा निर्वाणीकरण अभियान को आगे बढ़ाते हुए 20,000 मछलियों को गंगा की धारा में छोड़ा जो गंगा को साफ करते हुए गंगा निर्मली कारण अभियान को बल देंगी। सीआरपीएफ 95 वीं में बटालियन के कमांडेंट एनपी सिंह के निर्देश पर आज उक्त अभियान के साथ शहर में सैनिटाइजेशन व घाटों की सफाई भी की गई। वैश्विक महामारी कोविड-19 के विरुद्ध जारी अभियान के क्रम में शनिवार को भी पूरी गंभीरता और जवाबदारी के साथ अभियान चला।
बटालियन के कमांडेंट नरेंद्र पाल सिंह (पीएमजी) के निर्देशन में वाहिनी द्वारा चलाए जा रहे सैनिटाइजेशन एवं राहत अभियान अनवरत रूप से जारी रहा। कमांडेंट अद्यतन स्थिति पर भी नजर रखे हुए हैं।

आज वाहिनी के द्वितीय कमान अधिकारी सुरेश मिश्रा के नेतृत्व में सीआरपीएफ, मत्स्य विभाग, एवं सृजन सामाजिक विकास न्यास के सहयोग से मत्स्य संरक्षण दिवस के अवसर पर गंगा नदी में अस्सी घाट के तट पर 20,000 मछलियों को नदी में छोड़ा गया। इस अवसर पर सुरेश मिश्राने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मछली मानव के लिए सदा सहायक रही है। उसे लोग सिर्फ भोजन समझते है जबकि मछली गंगा की सफाई में भी बड़ा योगदान करती है। बढ़ती हुई जनसंख्या के कारण मछली संसाधन का आज तेजी से ह्रास हो रहा है , हम सबको मछली पालन के लिए आगे आना चाहिए । तटीय क्षेत्र और अंत: स्थलीय जल जहाँ से ज्यादा मछलियों को पकड़ा जा रहा है ,उन क्षेत्रों में मछलियों को जीर्णोद्धार होना चाहिए । ऐसी जगहों में छोटी मछलियों को बीज के तौर पर भी छोड़ना चाहिए। जलाशय नदियों मेंछोटी मछलियों को पकड़ने पर प्रतिबंध भी लगाने की जरूरत है।

जलाशयों में कृत्रिम प्रजनन पर जोर देना चाहिए । प्रदूषित जल में मछली जीवित नहीं रह पाती, इसलिए जल को प्रदूषण से बचाना चाहिए। कार्यक्रम में मत्स्य विभाग के एमएस रिजवी ( विशेष सचिव ) एसएस रहमानी,डिप्टी डायरेक्टर विश्वनाथ सिंह, उप निदेशक , डॉक्टर हरेंद्र, डॉक्टर संजय शुक्ला, सपना पूरी, राजेंद्र कुमार सोनकर , रविंद्र प्रसाद मुख्य अधिकारी, अनिल सिंह (अध्यक्ष सामाजिक विकास न्यास परिषद) आदि उपस्थित थे। आज भी ई/95 समवाय के कंपनी कमांडर विकास कुमार के नेतृत्व में श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर, ज्ञानवापी मस्जिद परिसर, अन्नपूर्णा माता मंदिर, नंदी हॉल, सुगम दर्शन केंद्र, बांस फाटक स्थित एटीएम केंद्रों, पुलिस चौकी, पोस्टों ,पुलिस वाहनों को रसायन छिड़काव द्वारा वि-संक्रमित किया गया ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close