रक्तदान में शतक लगाने वाले समाजसेवी वल्लभाचार्य पाण्डेय को किया गया सम्मानित

100 बार रक्तदान करके दिया मानवता का संदेश.आदर्श ग्राम नागेपुर में रक्त दान शिविर में 100 युवाओं ने किया रक्तदान.

वाराणसी: मिर्जामुराद, बनारस के प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता वल्लभाचार्य पाण्डेय ने अपने 50 वर्ष के जीवन काल में 100 बार रक्तदान करके समाज सेवा, दान, त्याग, उदारता और मानवता का अनमोल नमूना प्रस्तुत किया है। लोक समिति, आशा, मानव रक्त फाउंडेशन, विश्व ज्योति जनसंचार समिति, साझा संस्कृति मंच और देव एक्सल फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में गुरुवार को आदर्श ग्राम नागेपुर में महा रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें वल्लभाचार्य पाण्डेय  ने 100वी बार रक्तदान करके मानवता का सन्देश दिया, इस अवसर पर अन्य सैकडो़ लोगों ने भी रक्तदान किया।

रक्त संग्रहण दिन दयाल हॉस्पिटल, गंगा सेवा सदन और पॉपुलर हॉस्पिटल ब्लड बैंक द्वारा किया गया। रक्तदान में शतक लगाने वाले वल्लभाचार्य पाण्डेय को सपरिवार अंगवस्त्र और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया साथ ही आयोजकों द्वारा सभी रक्त दाताओं को सम्मान पत्र एवं पुरस्कार द्वारा सम्मानित किया गया। सभी ने एक साथ सामूहिक भोज करके हर सुख दुःख में एक दूसरे का सहभागी बनने और आपसी प्रेम और भाइचारे को बढ़ाने का सन्देश दिया।

सामाजिक कार्यकर्ता वल्लभ पाण्डेय ने कहा कि रक्तदान करके हम जरुरतमंद के जीवन की रक्षा कर सकते है। इसलिए लोगों को इस पुनीत कार्य के लिए आगे आने की जरुरत है। कुछ भ्रांतियों के चलते लोग रक्तदान करने से परहेज करते है। उन्होंने बताया कि लोगों द्वारा रक्त दान करने से दिल की सेहत में सुधार, दिल की बीमारियों और स्ट्रोक के खतरे को कम माना जाता है। खून में आयरन की ज्यादा मात्रा दिल के दौरे के खतरे को बढ़ा सकती है। नियमित रूप से रक्तदान करने से आयरन की अतिरिक्त मात्रा नियंत्रित हो जाती है। जो दिल की सेहत के लिए अच्छी है।

इसके पूर्व लोक समिति आश्रम से अम्बेडकर पार्क तक रक्तदान जागरूकता रैली भी निकाली गई। आशा सामाजिक स्कूल के बच्चों ने जागरूकता अभियान में बढ़ चढ़ के हिस्सा लिया। बच्चों ने तमाम स्लोगन बनाकर लोगों को जागरूक किया |मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री सुरेन्द्र सिंह पटेल ने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा दान रक्तदान है।जिला पंचायत अध्यक्ष पुनम मौर्य ने कहा कि मानव रक्त को लैब में नही बनाया जा सकता। एक यूनिट रक्तदान से तीन जिंदगियां बचाई जा सकती है। कार्यक्रम का संचालन लोक समिति संयोजक नन्दलाल मास्टर, स्वागत मानव रक्त फाउंडेशन के संथापक एडवोकेट अबू हासिम व धन्यवाद ज्ञापन ग्राम प्रधान संघ अध्यक्ष मुकेश कुमार ने किया |

इस अवसर पर फादर आनंद, पारमिता, जयन्त भाई, महेश, राजकुमार गुप्ता, विनय सिंह ,अब्दुल्ला भाई, सतीश, रंजू, डॉ आरिफ, दीपक पुजारी, नीलम, तनुजा मिश्रा, अजय पटेल समेत सैकड़ो सामाजिक कार्यकर्ता, जन प्रतिनिधि ग्रामप्रधान लोग शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *