एक्शनएड ने बाल श्रम उन्मुलन व मानव तस्करी की रोकथाम पर किया संवाद

-चिन्हित सैकड़ों बालश्रमिक बच्चों को शारदा अभियान के अंतर्गत नामांकन कराने पर दिया जोर,

वाराणसी: एक्शन एड के तत्वावधान में फेज थ्री स्टार परियोजना के अंतर्गत ब्लाक संसाधन केंद्र आराजीलाईन में ब्लाक स्तरीय संवाद आयोजन किया गया। संवाद का शुभारंभ 25 गाँवों के वालंटियर्स ने अतिथियों का स्वागत स्मृति चिन्ह देकर किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे खंड शिक्षा अधिकारी स्कंद गुप्त ने अपने अध्यक्षीय संवाद में एक्शन एड के उक्त अभियान की सराहना करते हरसंभव सहयोग देने का आश्वासन दिया है कहा कि एक सुसभ्य समाज के निर्माण के लिए आवश्यक अंग है शिक्षा से किसी भी बालक बालिका को वंचित ना होने दिया जाए साथ ही साथ समाज में व्याप्त अवधारणा कि हम गरीब हैं कैसे अपने बच्चे को शिक्षा दें। इस सामाजिक मनोदशा को परिवर्तित करने की नितांत आवश्यकता है।

कार्यक्रम का संचालन कर रहे जिला समन्वयक राजकुमार गुप्ता ने संवाद के अन्य पहलुओं जैसे चिन्हित ड्राप आउट, आउट ऑफ़ स्कूल, बाल श्रमिक बच्चों का आयु संगत कक्षाओं में नामांकन करा कर एसएमसी (विद्यालय प्रबन्धन समिति) एवं समुदाय के लोगों को जागरूक कर समस्त प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय में शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करा कर बाल श्रम और मानव तस्करी मुक्त गाँव बनाना परियोजना का मुख्य उद्देश्य है। साथ ही ज्ञात हो की कोरोना महामारी के चलते बच्चों की शिक्षा बेहद प्रभावित हो रही है। इसी सन्दर्भ में आप सभी को एसओपी का पालन करते हुए शिक्षा का अध्ययन बच्चों को ज़रूर कराएं एसएमसी सदस्य, ग्राम प्रधान, पंचायत के सदस्य, अभिवावक को जागरूक करें। इस वर्ष शारदा अभियान के अंतर्गत चिन्हित किये गए (5+ to 14+) बच्चों के नामांकन के मुद्दे पे चर्चा। इन आउट ऑफ़ स्कूल बच्चों को आगामी 15 अप्रैल से नामांकन होने पर कैसे मुख्यधारा से जोड़ा जाये और इनके शिक्षा सुनिश्चित की जाये। बालश्रम और भिक्षावृत्ती में लिप्त बच्चो को शिक्षा से कैसे जोड़ा जाए। विद्यालय प्रबंधन समिति इसमें किस तरह से सहयोग कर सकते है। उक्त बच्चों का चिन्हीकरण एवं नामांकन तथा उनकी शिक्षा कैसे सुनिश्चित की जा सके। चयनित 25 गाँवों को बालश्रम, बाल विवाह और मानव तस्करी मुक्त गाँव बनाकर मॉडल गाँव बनाने पर चर्चा किया गया।

संवाद में एकत्रित वालिंटीयर को उत्कृष्ट कार्य करने पर अतिथियों ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित करके इन सभी मुद्दों पर जनसंचार करने के लिए भी प्रेरित किया, बतौर अतिथि आराजीलाईन ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि डा. महेंद्र सिंह पटेल ने कहा कि सरकार प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्तर पर निःशुल्क शिक्षा मुहैया करा रही है तो शिक्षा के अभाव के लिये गरीबी कहां उत्तरदाई है, अपितु समाज में व्याप्त इन संकुचित सोचों में परिवर्तन लाकर शिक्षा से वंचित बच्चों को उनके मौलिक अधिकार से ओतप्रोत किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि “स्टार परियोजना” के अभियान का स्वरूप एक सामाजिक जन आंदोलन के रूप में उभर कर बालश्रम उन्मुलन और मानव तस्करी रोकथाम के क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन ला रहा है। कार्यक्रम में उपस्थित किशोर न्याय बोर्ड की सदस्य जागृति राही ने अपना विचार रखा कि सरकार बाल श्रम एवं बंधुआ मजदूरी करने वाले बच्चों को मुक्त कराकर सरकारी संरक्षण केंद्रों से जोड़कर शिक्षा ग्रहण कराने का कार्य कर रही है। एसएमसी अध्यक्ष योगीराज सिंह पटेल ने कहा कि समाज में व्याप्त किसी भी समस्या का समाधान करने का एक मात्र उपाय शिक्षा है यदि आप शिक्षित है तो कहीं भी किसी परिस्थिति या देश काल में अपने ज्ञान से उस संकट का सामना कर सकते हैं

प्रधानाध्यापक डा. शंभू नाथ तिवारी ने शिक्षा विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में लोगों को जानकारी प्रदान की। इस अवसर पर पूजा गुप्ता, जागृति राही, नगीना पटेल, श्रद्धा देवी, सुमैय्या अंसारी, सुरेखा, राजकुमार गुप्ता, डा. महेंद्र सिंह पटेल, डा. अनूप श्रमिक, योगीराज सिंह पटेल, मनीष कुमार पटेल, भोलानाथ पटेल, मनीष कुमार पटेल, नंदलाल पटेल, महेंद्र राठौर, जैशलाल वर्मा, मनोज कुमार, मनीष पटेल, आर्यन आनंद, रामसिंह वर्मा, शिवकुमार गुप्ता, आनंद कुमार सिंह, राजेश राय, नवाजिश अंसारी, अजीत कुमार, मनीष कुमार आदि लोग उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close