logo
नेत्रहीन मां के डांटने से नाराज तीन सगी बहनों ने ट्रेन से कटकर जान दी
 
उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में बदलापुर थाना क्षेत्र के वाराणसी-सुल्तानपुर रेल प्रखंड पर फत्तूपुर रेलवे क्रॉसिंग के पास मां की डांट के बाद तीन सगी बहनों ने गुरुवार की देर रात ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने तीनों शव कब्जे में लेकर जांच घटना की जांच शुरु कर दी है।पुलिस के अनुसार जिले में महाराजगंज थाना क्षेत्र के अहिरौली गांव निवासी राजेंद्र गौतम की पांच बेटियां रेनू, ज्योति, प्रीति(16) आरती(14) काजल(11) और एक बेटा गणेश(18) है। राजेंद्र गौतम की 9 साल पहले मौत हो गई थी। इनकी पत्नी आशा देवी पूरी तरह नेत्रहीन है। परिवार पूरी तरह से गरीबी से लड़ रहा है। आशा विधवा पेंशन के नाम पर 500 महीने में पाती है, जबकि बेटा गणेश दिहाड़ी पर गांव में ही मजदूरी करता था। जबकि बेटियां आसपास कटाई, मड़ाई करती थीं। परिवार का खर्च किसी तरह चलाता था। इसी साल मई में रेनू की शादी हुई थी।