logo
चीन और अमरीका को एक दूसरे का सम्‍मान करना चाहिए-शी जिनपिंग
 

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा है कि चीन और अमेरिका को एक-दूसरे का सम्मान और सहयोग करना चाहिए, दोनों देशों को न केवल अपने आंतरिक मामलों को सुलझाना चाहिए बल्कि अंतरराष्ट्रीय दायित्वों को भी पूरा करना चाहिए। 

चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग और अमरीकी राष्‍ट्रपति जो बाइडेन के बीच आज एक वर्चुअल बैठक हुई। श्री बाइडेन के राष्‍ट्रपति बनने के बाद उनके चीनी समकक्ष के साथ यह पहली बैठक थी। इस मौके पर श्री शी जिनपिंग ने कहा कि चीन और अमरीका को एक दूसरे का सम्‍मान करना चाहिए और दोनों देशों को मिलजुल कर शांति तथा सहयोग बनाये रखना चाहिए। श्री शी जिनपिंग ने अंतर्राष्‍ट्रीय माहौल को शांतिपूर्ण और स्थिर बनाये रखने के लिए चीन तथा अमरीका के बीच मजबूत और जैसी संतुलित साझेदारी की आवश्‍यकता पर बल दिया। जिसमें जलवायु परिवर्तन और कोविड महामारी जैसी चुनौतियों से निपटने की प्रभावकारी नीतियां शामिल हैं।

सरकारी समाचार एजेंसी के वकतव्‍य के अनुसार राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा है कि चीन और अमरीका के संबंधों को सकारात्‍मक तरीके से आगे ले जाने के लिए वह सर्वसम्‍मति से अमरीकी राष्‍ट्रपति के साथ मिलकर काम करने और प्रभावकारी कदम उठाने को तैयार हैं। श्री शी जिनपिंग ने कहा कि विश्‍व की दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं और संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद के स्‍थायी सदस्‍य होने के नाते दोनों देशों के बीच आपसी संवाद और सहयोग बढ़ाने की जरूरत  है। उन्‍होंने कहा कि चीन और अमरीका के नेताओं को विश्‍व शांति और विकास के लिए मिलजुल कर काम करने की जरूरत है। चीनी राष्‍ट्रपति ने कहा कि चीन और अमरीका विकास की जोखिम भरी स्थिति का सामना कर रहे हैं और वैश्विक स्‍तर पर मानवता के सामने कई चुनौतियां हैं।