logo
पीड़ित अगर हिंदू है, तो उससे मिलना गुनाह नहीं: सीएम योगी
सीएम योगी बोले- पिछली सरकार में प्रताड़ित कर पेशेवर अपराधियों ने पलायन के लिए लोगों को किया था मजबूर ,सरकार के अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की कार्यवाही के कारण परिवार अपने को सुरक्षित महसूस कर वापस लौटे: सीएम
 
सीएम योगी ने जिला प्रशासन से तलब की पिछली सरकार में जिन परिवारों के सदस्यों की हत्या हुई थी, उसकी पूरी रिपोर्ट, सरकार देगी मुआवजा ,बिना तुष्टीकरण की नीति को अपनाए सरकार अपराध और अपराधियों के प्रति जारी रखेगी जीरो टॉलरेंस की नीति ,कैराना से पलायन कर लौटे पीड़ितों ने योगी सरकार पर जताया भरोसा, बोले- योगी जी हैं, तो मुमकिन है .

कैराना/लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मेरा यह दायित्व है कि हर पीड़ित व्यक्ति से मिलूं और पीड़ित अगर हिंदू है, तो उससे मिलना गुनाह नहीं है। इसीलिए मैं इन पीड़ितों से मिलने आया हूं, जिन्हें पिछली सरकार में प्रताड़ित कर पेशेवर अपराधियों ने पलायन के लिए मजबूर कर दिया था। सरकार के अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की कार्यवाही के कारण वह सभी परिवार अपने को सुरक्षित महसूस कर वापस आए हैं और आज मैंने उन सभी लोगों से मुलाकात की है। यह बातें उन्होंने सोमवार को कैराना से पलायन कर लौटे पीड़ितों से मिलने के बाद पत्रकारों से कही।

उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में जिन परिवारों को क्षति पहुंचाई गई थी, जिनके परिवार के सदस्यों की निर्मम हत्या हुई थी, मैंने जिला प्रशासन से पूरी रिपोर्ट मांगी है। सरकार उनको कुछ मुआवजा भी देगी, जिससे वह लोग फिर से यहां पर अपने व्यवसाय और अन्य गतिविधियों को बढा सकें। हर व्यक्ति अपने शांतिपूर्ण और सौहार्द्रपूर्ण तरीके से रह सकें। उन्होंने कहा कि 2017 में आने के बाद से सरकार की जो नीति रही है और प्रधानमंत्री का जो मंत्र है, ‘सबका साथ, सबके विकास’ का, तो हम विकास सबका करेंगे। शासन की योजनाओं का लाभ भी सबको देंगे। बिना भेदभाव के देंगे। बिना तुष्टीकरण की नीति को अपनाए हुए अपराध और अपराधियों के प्रति कठोरतम कार्यवाही करने के अपने संकल्प को भी आगे बढ़ाएंगे। 

अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति आगे भी चलेगी: सीएम योगी

सीएम योगी ने कहा कि कुछ परिवारों के साथ मैंने संवाद किया है, जो पिछली सरकारों के राजनीति के अपराधीकरण के शिकार हुए थे, उसमें से ज्यादातर परिवार वापस आ चुके हैं, उनमें विश्वास जगा है और हमारी सरकार ने इस बात के लिए यहां के हर एक परिवार को आश्वस्त किया है कि सरकार अपराध और अपराधियों के प्रति जिस जीरो टॉलरेंस की नीति के तहत कार्य कर रही थी, वह हमारी रणनीति आगे भी चलेगी। 

अपराध और अपराधियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की वजह से कस्बे में शांति आई: सीएम

सीएम ने कहा कि यह कस्बा कभी देश के प्रमुख औद्योगिक कस्बे के साथ शास्त्रीय संगीत के प्रमुख घराने का केंद्र बिंदु माना जाता था। 1990 के दशक में राजनीति के अपराधीकरण और पेशेवर अपराधियों के राजनीतिकरण का दुष्परिणाम कैराना और कांधला जैसे कस्बों ने झेला है। यहां पर हिंदू व्यापारी और हिंदुओं को व्यापक पैमाने पर प्रताड़ित कर पलायन के लिए मजबूर कर दिया गया था। 2017 के बाद अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति के तहत सरकार ने जो कार्यवाही की थी, उसके परिणाम स्वरूप इस कस्बे में शांति आई है।

कसबे के सभी लोग बेझिझक अपने पूर्वजों की भूमि पर रहें: सीएम

सीएम योगी ने कहा कि कैराना में पलायन करने वाले बहुत सारे परिवार वापस आए हैं। 2017 में जब मैं यहां आया था, तब लोगों ने मांग की थी कि सुरक्षा की दृष्टि से यहां की चौकी की सुदृढीकरण और यहां पर पीएसी की एक बटालियन की स्थापना हो। चौकी की सुदृढीकरण की कार्यवाही पहले ही हो चुकी थी और यहां पर पीएसी के बटालियन की स्थापना के लिए मैं यहां आया हूं। उन्होंने कहा कि कसबे के सभी लोगों को मैं आश्वस्त करता हूं कि वह बेझिझक यहां पर अपने पूर्वजों की भूमि पर रहें। यहां की विरासत का संरक्षण करना, यहां के व्यापारिक और औद्योगिक माहौल को तीव्रता के साथ आगे बढ़ाने के लिए सरकार हर प्रकार का सहयोग करेगी। 

कैराना अपराधिक गतिविधियों का नहीं, बल्कि विकास के साथ तेजी से आगे बढ़ा: सीएम

सीएम योगी ने कहा कि बच्चों और महिलाओं के अंदर यह विश्वास देखने को मिला है और यह विश्वास अवश्य रंग लाएगा, क्योंकि अब कैराना कस्बा अपराधिक गतिविधियों का नहीं, बल्कि विकास की प्रक्रिया के साथ तेजी से आगे बढ़ा है। यहां की मांग थी कि यहां अकसर जाम लगता है, आज बाईपास बन रहा है। औद्योगिक ईकाईयों के पुनर्गठन के साथ नई ईकाईयां लग रही हैं। विकास और निवेश की जो संभावनाएं यहां पर बनी हैं, उसके माध्यम से बहुत सारे लोगों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मिला है और व्यापार बढ़ना शुरू हुआ है। 

इन परिवारों सें मिले सीएम योगी

सीएम योगी ने कैराना में पलायन कर लौटने वाले विजय मित्तल, नीतू सिंघल, अनु सिंघल और रेखा गर्ग के परिवारीजनों से मुलाकात की। इनमें से तीन परिवारों के सदस्यों की रंगदारी नहीं मिलने की वजह से हत्या कर दी गई थी। 

इस सरकार में व्यापारी सुरक्षित हुआ: वरुण सिंघल

सीएम योगी से मिलने के बाद कैराना से पलायन कर वापस लौटे वरुण सिंघल ने कहा कि मेरे भाई का 2014 में मर्डर हुआ था। मुख्यमंत्री ने हमें कहा कि आप लोग हमारी सरकार में सुरक्षित रहेंगे। उन्होंने हमें आर्थिक सहायता देने और बच्चों को नौकरी देने का आश्वासन दिया है। हमें पूरा विश्वास है कि जो उन्होंने कहा है, वह करेंगे। इस सरकार में यह तो है कि व्यापारी सुरक्षित हुआ है और मुझे पूरा विश्वास है कि योगी जी हमें सुरक्षित रखेंगे। योगी जी हैं, तो मुमकिन है। 

“पहले चिट्ठियां आती थीं, 10-15-20 लाख भेज दो, लेकिन अब शांति है”

पलायन कर वापस लौटे एक अन्य पीड़ित ने बताया कि पहले महिलाएं शाम बाहर नहीं निकल पाती थीं। हमें छिनौती का डर रहता था, लेकिन अब पूरे कांफिडेंस से निकलते हैं। पहले बहुत डर लगता था, हम रुड़की पलायन कर गए थे। जब योगी सरकार आई है, तब हम वापस आए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि अखिलेश यादव ने कुछ भी नहीं किया। सिर्फ लड़कियों को बर्बाद किया। गुंडाराज किया, हमें बर्बाद किया। कानून व्यवस्था इतनी फर्स्ट क्लास कि बता नहीं सकते। ना कोई अब धमकी देता है और न ही गुंडाराज है। पहले चिट्ठियां आती थीं, 10-15-20 लाख भेज दो, नहीं तो गोली मार देंगे। काफी व्यापारियों को गोली मारी भी है, लेकिन अब शांति है।