logo
इमरान बड़े भाई, भारत और पाकिस्तान के बीच व्यापार पुन: शुरू हो: सिद्धू
 

पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को बड़ा भाई बताने के विवादास्पद बयान के साथ ही भारत और पाकिस्तान के बीच सीमाएं खोलने और दोनों देशों में पुन: व्यापार शुरू करने की वकालत की है।पाकिस्तान में गुरूद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन करने गये श्री सिद्धू ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि वह पिछली बार शांति का संदेश लेकर आये थे और इस बार इससे आगे बढ़ना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि दोनों देशों की भाषा और संस्कृति एक जैसी है और आपसी तरक्की और स्मृद्धि के लिये दोनों देशों की सीमाएं खुलनी तथा व्यापारिक गतिविधियां फिर से शुरू होनी चाहिएं।

उन्होंने कहा कि वह सकारात्मक सोच का व्यक्ति हैं और जनता की खुशहाली की बात करते हैं। उन्होंने कहा कि लगभग 2100 किलोमीटर दूर मुंद्रा बंदरगाह जाने के वजाय क्यों नहीं पंजाब-पाकिस्तान सिल्क रूट खोल कर व्यापार हो जो कि महज 22 किलोमीटर की दूरी पर है। उन्होंने भारत और पाकिस्तान के बीच मेडीकल टूरिज़्म को बढ़ावा देने की भी वकालत की।वहीं इससे पहले गुरूद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिये यहां पहुंचे और औपचारिकताएं पूरी कर श्री सिद्धू करतारपुर कॉरिडोर लांघ कर गुरूद्वारा करतारपुर साहिब के लिये रवाना हुये।

इस दौरान प्रधानमंत्री इमरान खान की ओर से उनके एक प्रतिनिधि ने सीमा चौकी पर उनका स्वागत किया। इस मौके पर श्री सिद्धू ने इमरान खान को बड़ा भाई बताया और कहा कि उन्हें यहां हमेशा प्यार मिला है। “मैं उनका (इमरान खान) बहुत आभारी हूं। वह मेरे बड़े भाई हैं। उन्होंने मुझे बहुत प्यार दिया है।'पिछली बार जब श्री सिद्धू पाकिस्तान गए थे तो करतारपुर कॉरिडोर खोलने के मुद्दे पर वहां के सेनाध्यक्ष जनरल बाजवा से गले मिलने पर वह विवादों में आ गये थे। उनका यहां कड़ा विरोध हुआ था।वहीं पाकिस्तान के प्रति छलके इस प्रेम पर भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) बिफर गई और उसने इसे कांग्रेस नेता राहुल गांधी के इशारे पर दिया गया बयान बताया है।

पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा ने नई दिल्ली में मीडिया को सम्बोधित करते हुये राहुल और और प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुये कहा कि जिसका डर था वही हुआ..। उन्होंने कहा कि सिद्धू ने यह बयान इत्तेफाक ही नहीं दिया है बल्कि राहुल गांधी के कहने पर दिया है।संबित पात्रा का कांग्रेस पर हमला यहीं नहीं रूका और कहा कि कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद और मणिशंकर अय्यर को तो हिंदुत्व में बोको हरम और आईएसआईएस दिखता है। उन्होंने प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुये कि वह सिद्धू को अपना बड़ा भाई बताती हैं और सिद्धू इमरान खान को बड़ा भाई बताते हैं। उन्होंने नसीहत दी कि सीमावर्ती राज्यों के नेताओं को परिपक्वता से बयान देना चाहिये।

सिद्धू ने मीडिया से बातचीत में कहा “कॉरिडोर खुल गया है और असंख्य सम्भावनाएं भी खुली हैं। वह वहां पंजाब की 'तरक्की की नई राह' पर बात करूंगा“। उन्होंने कॉरिडोर खोलने और कृषि कानून वापिस लेने के केंद्र सरकार के फैसलों का स्वागत किया। उन्होंने इस अवसर पर अपने संदेश में कहा “मुरशद आपणे दे दर ते मंगण आया एहो मुराद, साडी झोली पा साईयां अमन ते इतहाद, जीवण सब मावां दे बचड़े बापूआं से दिलशाद, अमन शांति ते आपसी भाईचारे दी बाबे नानक दी विचारधारा सदा रहे आबाद जिंदाबाद जिंदाबाद जिंदाबाद.. ।

श्री सिद्धू के साथ कैबिनेट मंत्री परगट सिंह, अरूणा चौधरी, अमरिंदर सिंह राजा वडिंग, विधायक कुलबीर सिंह जीरा, पार्टी मामलों के प्रदेश प्रभारी हरीश चौधरी, प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष कुलजीत नागरा और पवन गोयल भी पाकिस्तान गये हैं।इससे पहले गत 18 नवम्बर को मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी के जत्‍थे के साथ श्री सिद्धू को जाने की अनुमति नहीं मिली थी। उन्हें 20 नवम्बर को ही करतारपुर साहिब जाने की अनुमति मिल पाई थी।