logo
मोदी ने की बुंदेलखंड पर सौगातों की बौछार
 

आजादी की प्रथम दीपशिखा महारानी लक्ष्मीबाई की 193 वीं जयंती के अवसर पर शुक्रवार को बुंदेलखंड के झांसी और महोबा की यात्रा पर आये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिंचाई , विकास और रक्षा क्षेत्र से जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं की सौगात दी।यात्रा के पहले चरण में महोबा पहुंचे प्रधानमंत्री ने अर्जुन बांध सहायक परियोजना सहित अन्य सिंचाई जल परियोजनाओं का उद्घाटन किया । महोबा में उन्होंने लगभग सवा तीन हजार करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण किया। कांग्रेस, सपा और बसपा की पूर्ववर्ती सरकारों पर निशाना साधते हुये कहा कि दशकों तक बुंदेलखंड के लोगों ने लूटने वाली सरकारें देखी हैं। पहली बार बुंदेलखंड के लोग यहां के विकास के लिए काम करने वाली सरकार देख रहे हैं।

उन्होंने अपराधियों के खिलाफ योगी सरकार की सख्ती का जिक्र करते हुये कहा, “जब माफियाओं पर बुलडोजर चल रहा है तो कुछ लोग हाय-तौबा मचा रहे हैं। लेकिन ये लोग कितना भी हाय-तौबा मचा लें, उप्र और बुंदेलखंड के काम रुकने वाले नहीं है। इन लोगों ने बुंदेलखंड के साथ जैसा बर्ताव किया उसे लोग कभी भूल नहीं सकते।”इसके बाद वीरांगना भूमि झांसी पहुंचने पर सबसे पहले महारानी लक्ष्मीबाई के ऐतिहासिक किले का भ्रमण किया और वीरांगना की प्रतिमा का अनावरण किया । किले के भ्रमण के बाद प्रधानमंत्री किले की तलहटी में बने मंच पर पहुंचे और महारानी लक्ष्मीबाई के शौर्य को बुंदेलखंडी में नमन और लाेगों का अभिवादन किया।

उन्होने कहा कि झांसी की शौर्य भूमि पर कदम पड़ते हुये प्रत्येक व्यक्ति के शौर्य की बिजली दौड़ जाती है। आज शौर्य, पराक्रम की पराकाष्ठा का प्रतीक रानी लक्ष्मीबाई की जयंती है। वर्तमान समय मे सशक्त और सामर्थ्यशाली भारत विकास की एक आयाम का आकार धारण कर रहा है। झांसी की धरा पर उपस्थित होकर ‘‘मैं स्वयं को अत्यधिक गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं।’’ मेरा यह सौभाग्य हैं कि ‘‘मैं झांसी की रानी की जन्मस्थली (काशी) का प्रतिनिधित्व करता हूं।’’ झांसी की भूमि पर मुझे विशेष गौरव की अनुभूति हो रही हैं। गुरु नानकदेव की जयंती पर नानक जी को नमन करते हुये समस्त देशवासियों को गुरुनानक जयंती, कार्तिक पूर्णिमा एवं देव दीपावली की बधाई दी। यह धरती वीरांगना झलकारी बाई की वीरता एवं शौर्य का गुणगान करती है।

उन्होंने मेजर ध्यानचन्द को स्मरण करते हुये कहा कि हमारे देश को हाकी खेल में विशेष गौरव दिलाया। मेजर ध्यानचन्द के खेल जगत में विशेष योगदान को देखते हुये भारत सरकार द्वारा सबसे बड़े पुरस्कार को इनके नाम पर समर्पित किया गया।अब झांसी में एन्टी टैंक मिसाइल के लिये रक्षा क्षेत्र के लिये उपकरण बनाये जायेंगे, इससे भारत को रक्षा क्षेत्र में मजबूती प्राप्त होगी। उत्तर प्रदेश में एनसीसी कालेजों की स्थापना की जा रही है, जिसमें देश की बेटियां भी अब अध्ययन कर सकेंगी। इसके साथ ही प्रदेश में लगभग 100 सैनिक स्कूलों की स्थापना की जा रही है, जिसमें बालिकाओं के अध्ययन की बेहतर व्यवस्था की जायेगी।आज रक्षा मंत्रालय ने मेरे बचपन की एनसीसी की यादों का स्मरण कराया। हमें एनसीसी के अनुशासन एवं संस्कारों को उजागर करने का कार्य करना चाहिए।

आज विश्व प्रदूषण की समस्या से जूझ रहा है, ऐसे में भारत के अधिकांश क्षेत्र में सोलर पावर प्लांट का शिलान्यास किया जा रहा है। भारतदेश कभी कोई लड़ाई शौर्य एवं बलिदान की कमी के कारण नही हारा। बुन्देलखण्ड में बनने वाला यूपी डिफेंस कॉरीडोर भविष्य में भारत के सामर्थ्य केन्द्र के रुप में जाना जायेगा। आज देश का मंत्र ‘‘मेक इन इण्डिया, मेड फॉर वर्ल्ड’’ है। हमारा देश आधुनिक तकनीक के रक्षा उत्पादन तैयार कर देश के रक्षा क्षेत्र को तैयार कर रहा है। देश में प्रगति के बीज निरंतर अंकुरित हो रहे है।हमारे आदर्श वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई, वीरांगना झलकारीबाई, अवन्तीबाई एवं ऊदाबाई के शौर्य एवं वीरता का जीता जागता ग्वाह होना चाहिए। हमें अपने देश के विकास एवं अखण्डता के लिये संकल्प लेना होगा। झांसी के नौजवान इस भूमि की वीरांगनाओं एवं वीरों के बलिदानों का स्मरण अवश्य करते रहे, इस क्षेत्र का गौरव निरंतर प्रगतिशील रहे।

प्रधानमंत्री ने प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा कराये जा विकास कार्यो की सराहना की।इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा कि आज गुरु नानक देव की जयंती का पर्व है। गुरु नानक ने महिला एवं पुरुष में भेद न करते हुये अन्धविश्वास एवं रुढ़िवादी विचारधारा का त्यागने का समाज को संदेश दिया। इसके साथ ही वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई की जयंती है। आज का यह आयोजन रानी की बलिदान एवं शौर्य का प्रतीक है। महिला सुरक्षा की दिशा में रक्षा मंत्रालय द्वारा निरंतर नये-नये प्रयास किये जा रहे है। रक्षा मंत्रालय प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के सकल्प को साकार करने की दिशा में कार्य कर रहा है। कभी दुनिया का बड़ा हथियार आयातक हमारा देश अब दुनियाभर के 70 देशों में रक्षा उपकरण निर्यात करने का कार्य कर रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने उद्बोधन में कहा कि वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई की 193 वीं की जयंती पर आज हम इनके शौर्य एवं पराक्रम को स्मरण करते है। देश में रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए जो 02 डिफेंस कॉरिडोर स्वीकृत हुए थे, उनमें से प्रधानमंत्री जी ने एक उत्तर प्रदेश को दिया है। आज उत्तर प्रदेश का डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग कॉरिडोर इस दिशा में तेजी के साथ न केवल रक्षा क्षेत्र में भारत की आत्मनिर्भरता को बल्कि उत्तर प्रदेश में रोजगार व नौकरी की ढेर सारी संभावनाओं को आगे बढ़ाने का कार्य भी कर रहा है।1857 के प्रथम स्वतन्त्रता समर में विदेशी हुकूमत को हिलाने वाली महारानी लक्ष्मीबाई जी की शौर्य गाथा को हर भारतवासी बड़ी श्रद्धा व सम्मान के साथ स्मरण करता है।

1857 के पूर्व रानी लक्ष्मीबाई जी ने विदेशी हुकूमत को चुनौती देते हुए कहा था ‘‘मैं अपनी झांसी हरगिज नहीं दूंगी’’, यह आज भी हम सबको माता व मातृभूमि के प्रति एक नया समर्पण भाव व्यक्त करने के लिए प्रेरित करता है। उत्तर प्रदेश का सौभाग्य है कि प्रधानमंत्री इस प्रदेश का प्रतिनिधित्व करते हैं। देश में रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए जो 02 डिफेंस कॉरिडोर स्वीकृत हुए थे, उनमें से प्रधानमंत्री जी ने एक उत्तर प्रदेश को दिया है। आज उत्तर प्रदेश का डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग कॉरिडोर रक्षा क्षेत्र में भारत की आत्मनिर्भरता के साथ उत्तर प्रदेश में रोजगार व नौकरी की ढेर सारी संभावनाओं को आगे बढ़ाने का कार्य भी कर रहा है।मुझे प्रसन्नता है कि झांसी में 1,034 हेक्टेयर का लैंडबैंक हमारे पास मौजूद है, जिससे अब तक 603 करोड़ का प्रस्तावित निवेश हमें प्राप्त हुआ है।

अब तक चित्रकूट में 101 हेक्टेयर, कानपुर में 184 हेक्टेयर, अलीगढ़ में 81 हेक्टेयर और लखनऊ में 80 हेक्टेयर लैंडबैंक के रूप में हम लोगों ने अपने पास सुरक्षित रखा है। आज प्रधानमंत्री  के कर-कमलों से भारत डायनमिक्स लिमिटेड की लगभग 400 करोड़ की आधारशिला रखी गई है।यहां पर उत्तर प्रदेश सरकार ने 183 हेक्टेयर भूमि भारत डायनमिक्स लिमिटेड को प्रदान कर दी है। झांसी में 1,034 हेक्टेयर का लैंडबैंक मौजूद है, जिससे अब तक 603 करोड़ का प्रस्तावित निवेश प्राप्त हुआ है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में 2017 से अब तक 1,440 मेगावाट क्षमता के सोलर पावर प्लांट कमीशन्ड किए हैं। आज प्रधानमंत्री ने स्वयं 600 मेगावाट के एक नए सोलर पावर प्लांट की यहां पर आधारशिला रखी है, जो इसी जनपद झांसी में स्थापित होगा।

प्रदेश सरकार ने पहले से ही 2,850 एकड़ भूमि इसके लिए आवंटित की है। इसमें 3 हजार करोड़ से अधिक का निवेश प्रस्तावित है। 6 हजार से अधिक रोजगार की संभावनाएं भी इसके माध्यम से प्राप्त होंगी।राष्ट्र रक्षा समर्पण पर्व के अवसर पर तीनों सेना के प्रमुख सहित सेना के अन्य उच्चाधिकारियों ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त किये।राष्ट्र रक्षा समर्पण पर्व के अवसर पर राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम भारत सरकार के राज्यमंत्री श्री भानु प्रताप सिंह वर्मा, रक्षा राज्यमंत्री भारत सरकार अजय भट्ट,  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, सांसद झांसी अनुराग शर्मा, अध्यक्ष जिला पंचायत पवन कुमार गौतम, मेयर रामतीर्थ सिंघल, विधायक सदर रवि शर्मा, विधायक बबीना राजीव सिंह पारीछा, विधायक मऊरानीपुर बिहारीलाल आर्य, विधायक गरौठा जवाहर लाल राजपूत, एडीजी कानपुर जोन श्री भानु भास्कर, मण्डलायुक्त अजय शंकर पाण्डेय, डीआईजी जोगेन्दर कुमार, जिलाधिकारी श्री रविन्द्र कुमार, एसएसपी शिवहरी मीणा, नगर आयुक्त अवनीश कुमार राय, मुख्य विकास अधिकारी शैलेष कुमार सहित विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी तथा जनप्रतिनिधिगण मौजूद रहे।