logo
यूपी में आधुनिक होती सुविधाओं का प्रतिबिंब है पूर्वांचल एक्सप्रेस वे : मोदी
 

पिछली सरकाराें पर पूर्वी उत्तर प्रदेश के विकास की उपेक्षा का आरोप लगाते हुये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे उत्तर प्रदेश में आधुनिक होती सुविधाओं का प्रतिबिंब है।करीब 22 हजार करोड़ की लागत से तैयार 341 किमी लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उदघाटन करने के बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुये मोदी ने कहा कि तीन साल पहले जहां केवल जमीन थी, वहां आज इतना आधुनिक एक्सप्रेस वे गुजर रहा है। यह यूपी के विकास का एक्सप्रेस वे है। नये यूपी के निर्माण का एक्सप्रेस वे है। यूपी की मजबूत होती अर्थ व्यवस्था का एक्सप्रेस वे है। यूपी की शान का प्रमाण है। इसका लोकार्पण करते हुये वह खुद को धन्य महसूस कर रहे हैं।

उन्होने कहा कि देश के संपूर्ण विकास के लिये क्षेत्रों का संतुलित विकास भी बहुत जरूरी है। कुछ क्षेत्र आगे चले जाये और कुछ दशकों तक पीछे चले जाये। यह असमानता ठीक नहीं है। विकास की संभावना होने के बावजूद नार्थ ईस्ट को उतना लाभ नहीं मिला। यूपी का सर्वांगीण विकास पर भी पिछली सरकारों ने ध्यान नहीं दिया। प्रदेश को माफियावाद और गरीबी के हवाले कर दिया गया था। खुशी है कि आज यही क्षेत्र विकास का नया अध्याय लिख रहा है। ऊर्जावान कर्मयोगी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ,उनकी टीम और उत्तर प्रदेश के लोगो पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लिये बधाई के पात्र हैं।

मोदी ने कहा कि जिन किसान बहनो की भूमि इसमे लगी है जिन श्रमिकों का पसीना इसमें लगा है। जिन इंजीनियरों का कौशन लगा है । उनका भी अभिनंदन। जितनी जरूरी देश की समृद्धि उतनी ही जरूरी देश की सुरक्षा भी है। आपात काल की स्थिति में वायुसेना की ताकत बन गया है एक्सप्रेस वे। यहां उतरने वाले हमारे फाइटर प्लेन की गर्जना उन लोगों के लिये एक जवाब होंगे जिन्होने डिफेंस इंफ्रास्ट्रक्चर को नजरअंदाज किया।प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश की उपजाऊ भूमि और यहां के लोगों का परिश्रम एवं कौशल अभूतपूर्व है। वह ऐसा किताबी ज्ञान के नाते नहीं कह रहे है बल्कि यहां का सांसद के नाते जो रिश्ता नाता बना है उस पर बोल रहे हैं। इतने बडे क्षेत्र को गंगा और अन्य नदियों का आशीर्वाद मिला है। सात आठ साल पहले यहां के जो हालात थे, उनको देखकर हैरानी होती थी। महसूस होता था कि यूपी को कुछ लोग इस क्षेत्र को किस बात की सजा दे रहे हैं। 2014 में हालांकि यहां के लोगों ने देश की सेवा का अवसर दिया जिसके बाद यूपी के विकास को लेकर प्रधान सेवक के नाते बारीकियों में जाना शुरू किया। गरीबों को पक्के घर मिले। शौचालय मिले ताकि घर की महिलाओं को बाहर न जाना पडे। ऐसे कितने ही काम यहां किये जाने जरूरी थे ।

उन्होने कहा कि बहुत पीड़ा थी कि तब जो सरकार थी। उसने मेरा साथ नहीं दिया बल्कि उन्हे सार्वजनिक रूप से खडे होने में डर लगता था। मै एमपी के रूप में आता था तो स्वागत करने में भी उन्हे शर्म आती थी क्योंकि काम का हिसाब देने के लिये कुछ था ही नही। योगी से पहले सरकारों ने यूपी के साथ नाइंसाफी की। अपने परिवार का ही हित साधा। ऐसा करने वालों को यूपी के लोग हमेशा हमेशा के लिये विकास के रास्ते से हटा देंगे और 2017 में आपने तो यह करके दिखाया है। प्रचंड बहुमत देकर सेवा का मौका दिया। आज यूपी में हो रहे विकास कार्यो को देखकर कह सकते है कि यूपी में तेज गति से बदलाव हो रहा है।मोदी ने कहा “ कौन भूल सकता है कि पहले यूपी में कितनी बिजली कटौती होती थी। यूपी में कानून व्यवस्था की क्या हालत थी। मेडिकल सुविधाओं की क्या स्थिति थी। यूपी में हालात ऐसे बना दिये गये थे। यूपी में राह नहीं बल्कि राहजनी होती थी। अब राहजनी करने वाले जेल में है। गांव गांव नयी राह बन रही है। नयी सडके बन रही है। बीते साढे चार वर्षो में यूपी पूरब हो या पश्चिम ,नयी सडकों से जोडा गया है हजारों कितनी नयी सडके बनायी गयी है। यूपी के लोग और राज्य सरकार सक्रिय भागीदारी से यूपी के विकास का सपना साकार होता दिख रहा है। नये मेडिकल कालेज बन रहे है एक्सप्रेस वे बन रहे है। आधुनिक शिक्षा संस्थान बन रहे है।”उन्होने कहा “ कुशीनगर में हाल ही में हवाई अड्डा का लोकार्पण किया। आज पूर्वांचल एक्सप्रेस वे सौपने का सौभाग्य मिला है जिसका लाभ गरीब और मध्यम वर्ग को होगा। किसान को मदद होगी व्यापारी के लिये भी सुविधा होगी । श्रमिक और उद्यमी को भी होगा। दलित,वंचित पिछडे, मध्यम वर्ग को फायदा होगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे ने निर्माण के दौरान भी हजारों को रोजगार दिया और आगे भी लाखों नये रोजगार का माध्यम बनेगा।