logo
पुष्पवर्षा के बीच पुष्पक विमान से उतरे सिया राम, जयघोष से गूंज उठी राम नगरी
दुनिया की कोई ताकत 2023 तक राममंदिर निर्माण के कार्य को रोक नहीं सकती है - सीएम
 
रामराज्य की कल्पना को योगी सरकार कर रही पूरा .अयोध्या अब एक नई सांस्कृतिक के तौर पर विश्वपटल पर दमकेगी . आस्था के आगे कोरोना त्रस्त हुआ है पर अभी पस्त नहीं हुआ है - सीएम .अयोध्या आज त्रेता युग के विकास का भी साक्षी बन रहा है .सीएम के सम्मान में खड़े हुए लोग, संतों ने दिया आशीर्वाद .

अयोध्या : अवध में विराजे राजा राम... जय श्री राम... के जयघोष से गूंजता अयोध्या का राम कथा पार्क.... होठों पर राम का नाम. . संत सत्ता और जनसत्ता के चेहरों पर संतुष्टि की मुस्कान... ये नजारा उस वक्त देखने को मिला, जब पुष्पक विमान से रामकथा पार्क में जैसे ही भगवान श्रीराम,  सीता माता,  लक्ष्मण और हनुमान जी उतरे। फूलों से सजे रथ पर जब राम कथा पार्क में श्रीराम, सीता माता, लक्ष्मण संग हनुमान जी जब पंडाल में आए तो हजारों लोगों ने खड़े होकर जय श्रीराम के उद्घोष संग करतल ध्वनि से उनका स्वागत किया। राम भक्तों की आंखे बस राजा राम और माता सीता को उस वक्त निहारती रह गईं जब यूपी के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने उनका तिलक कर राज्याभिषेक किया। राज गद्दी पर विराजे राजा राम जी संग सीता महारानी... के गीतों से गूंज रहे पंडाल में सभी भक्त उस वक्त भावुक हो गए, जब एक-एक कर सभी विशेष अतिथियों संग तीन देशों के राजदूतों ने उनका स्वागत किया।  राज सत्ता,  संत सत्ता और जनसत्ता की खुशी दीपोत्सव में देखने को मिली। कार्यक्रम में पर्यटन संस्कृति मंत्री नीलकंठ तिवारी लगातार आयोजन पर नज़र रखे हुए थे। 

नारा आप भूल गए पर मैं अपना काम नहीं भूला - सीएम

सीएम योगी आदित्यनाथ की राम के प्रति आस्था, लगाव और प्रभु श्रीराम के प्रति समर्पण और सेवा को देख पंडाल में मौजूद रामभक्तों ने उनके संबोधन से पहले खड़े होकर उनका सम्मान किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2017 में भगवान राम की इस पावन धरती से दीपोत्सव के कार्यक्रम को आगे बढ़ाया था। देखते-देखते ये आयोजन देश के लिए विशिष्ट आयोजन बन गया। पहले दीपोत्सव में मैंने देखा की अयोध्या में एक ही नारा गूंज रहा था कि योगी जी एक काम करो मंदिर का निर्माण करो। आप भले ही अपना नारा भूल गए हों पर मैं आपका नारा नहीं भुला, ना ही अपना काम भुला। मैं मंदिर की आधारशिला के निर्माण में लगा रहा।

news

पांचवे दीपोत्सव पर अयोध्या को मिली बड़ी सौगात

विकास के पथ पर अयोध्या के रथ को तेजी से अग्रसर करने के लिए सीएम ने परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या को पांचवे दीपोत्सव पर बड़ी सौगात देते हुए 661 करोड़ रुपए की 50 परियोजनाओं का लोकार्पण किया। इसके साथ ही डाक विभाग और अवध लोहिया विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में दीपोत्सव पर विशेष आवरण व विरूपण किया गया। इस अवसर पर अयोध्या पर आधारित डॉक्यूमेंट्री को देख पूरा वातावरण राममय हो गया।

अयोध्या पर आधारित तीन पुस्तकों का हुआ विमोचन

राम कथा पार्क में अयोध्या शोध संस्थान की ओर से प्रकाशित तीन पुस्तकों का विमोचन किया गया। ये तीनों पुस्तकें अयोध्या पर आधारित हैं। जिसमें पहली पुस्तक डॉ. यतीन्द्र मिश्रा की पुस्तक ‘परंपरा संस्कृति विरासत अयोध्या’, दूसरी डॉ. जितेंद्र कुमार सिंह की पुस्तक श्री राम की अयोध्या, और बृजेश सिंह की तीर्थोत्त्मा अयोध्या का विमोचन हुआ।

news