logo
राजस्थान - मंत्रिमंडल के सभी मंत्रियों ने दिया इस्तीफा
 

गहलोत मंत्रिमंडल के सभी मंत्रियों ने अपना इस्तीफा दे दिया है। शनिवार की शाम मुख्यमंत्री निवास में आयोजित बैठक के बाद सभी मंत्रियों ने अपने इस्तीफे पार्टी आलाकमान को सौंप दिए। राज्य के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने मंत्रिपरिषद की बैठक के बाद यह जानकारी दी।“मंत्रिपरिषद की बैठक मुख्यमंत्री गहलोत की अध्यक्षता में हुई। सभी मंत्रियों ने इस्तीफे दे दिए हैं।“ कांग्रेस विधायकों को रविवार को अपराह्न दो बजे पार्टी के प्रदेश कार्यालय में बुलाया गया है। उसके बाद का कार्यक्रम गहलोत व पार्टी के प्रदेश प्रभारी अजय माकन तय करेंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को संबोधित करके इस्तीफे दिए जाते हैं उसके बाद मंत्रिमंडल पुनर्गठन की प्रक्रिया होती है। इस आशय का प्रस्ताव पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने रखा। सूत्रों ने बताया कि नए शपथ ग्रहण समारोह रविवार को होने की संभावना है।

रविवार दोपहर 2 बजे प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में जाएंगे और वहां से सब कुछ तय होगा। उधर, राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र जयपुर पहुंच गए हैं. बताया जा रहा है कि नए मंत्रियों के नामों पर सहमति बन गई है। उधर, अजय माकन उन विधायकों को फोन कर जानकारी देंगे, जिन्हें मंत्री बनाया जाना है। नए मंत्रिमंडल के लिए सचिन पायलट खेमे से मंत्री पद के लिए जो संभावित नाम सामने आ रहे हैं. वह हेमाराम चौधरी ,बृजेन्द्र ओला, दिपेंद्र सिंह शेखावत, रमेश मीणा और मुरारीलाल मीणा हैं। वहीं इधर, गहलोत ख़ेमे से संभावित नाम हैं- बसपा से राजेन्द्र गुढा, निर्दलीय- महादेव खंडेला, संयम लोढ़ा, कांग्रेस विधायक- महेन्द्रजीतासिंह मालवीय, रामलाल जाट, मंजू मेघवाल, जाहिदा खान और शंकुतला रावत। यहां 15 संसदीय सचिव बनाए जा सकते हैं। अशोक गहलोत ने कहा कि पता नहीं क्या फैसले होंगे। ये या तो हाई कमान जानता है या अजय माकन जानते हैं। अजय माकन जिस काम के लिए आए हैं वह काम भी करना है।