logo
वुमेन पावर लाइन 1090 पर 10 लाख से अधिक शिकायतें हुईं दर्ज

अब भयमुक्त वातावरण में देर रात काम कर पा रही महिलाएं

 

प्रदेश में मनचलों के खिलाफ हो रही कार्रवाई

लखनऊ । प्रदेश की बेटियों और महिलाओं का भयमुक्‍त वातावरण में देर रात तक निडर होकर काम करने का सपना प्रदेश सरकार ने पूरा किया है। पिछली सरकारों के मुकाबले योगी सरकार ने न सिर्फ महिलाओं व बेटियों को सु‍रक्षित माहौल दिया बल्कि पुलिसिंग को मजबूत करते हुए प्रदेश में पिंक पुलिस बूथ जैसी सेवाओं के संचालन से सीधे तौर पर महिलाओं व बेटियों को लाभ पहुंचाया है। साल 2017 के बाद से महिलाओं व बेटियों के पक्ष में सकारात्‍मक बदलाव की बयार देखने को मिली है जिसकी गवाही महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन के आंकड़ें दे रहे हैं।

यूपी में महिलाओं और बेटियों की सुरक्षा के लिए कई ठोस कदम उठाए गए हैं। जिसका ही परिणाम है कि महिलाओं व बेटियों की शिकायतों का तेजी से निस्‍तारण व मनचलों पर कड़ी कार्रवाई हो रही है। मार्च 2017 से अब तक के आंकडों के अनुसार वीमेन पावर लाइन 1090 पर मार्च 2017 से अब तक अलग अलग मामलों में दर्ज शिकायतों में से 99.7 प्रतिशत शिकायतों का निस्‍तारण किया जा चुका है। वीमेन पावर लाइन 1090 द्वारा योगी सरकार के गठन के बाद से 31 दिसंबर 2020 तक कुल 10,14,613 शिकायतें दर्ज की गई। इन शिकायतों में महिलाओं व बालिकाओं के साथ मोबाइल द्वारा छेड़खानी विभिन्‍न प्रकार के उत्‍पीड़न और छोटे छोटे अपराध शामिल हैं।

एक साल में दो लाख से अधिक मामलों का किया गया निस्‍तारण

साल 2021 में जनवरी से सितबंर तक 1090 पर अलग अलग मामलों में 239084 शिकायतें दर्ज की गई जिसमें 224759 मामलों का निस्‍तारण किया गया। बाकी अन्‍य शिकायतों का निस्‍तारण तेजी से किया जा रहा है।

अराजक तत्‍वों को किया जा रहा चिह्नित

मिशन शक्ति अभियान के तहत महिला सुरक्षा के लिए 1535 थानों में शक्ति मोबाइल, महिला हेल्‍पडेस्‍क के जरिए अराजक तत्‍वों को चिन्हित करने का कार्य किया जा रहा है। इसके साथ ही उन लोगों के परिवार के जिम्‍मेदार सदस्‍य की सोशल काउंसलिंग व उनसे सदाचारिता के शपथ पत्र भी भरवाए जा रहे हैं।