logo
सर्विस रोड निर्माण नहीं होने से नाराज सत्याग्रहियों ने दसवें दिन किया ज़िम्मेदारों का दसवाँ

-रिंगरोड रखौना के पास सत्याग्रह के 13 वे दिन 10 अक्टूबर को तेरहवी का ऐलान

 
सभी अधिकारियों, राजनेताओं, समाजसेवियों, राजनैतिक दलों और सामाजिक संगठनों, सहित आम क्षेत्र वासियों को विधिवत शोक संदेश पत्र देकर आमंत्रित किया जाएगा

वाराणसी: मिर्जामुराद (07/10/2021) क्षेत्र के रखौना गाँव में रिंग रोड ओवरब्रिज के पास हाइवे किनारे सर्विस रोड बनाने की माँग को लेकर ग्रामीणों का सत्याग्रह गुरुवार को दसवें दिन भी जारी रहा। ज़िम्मेदार अधिकारियों के अड़ियल रवैये से आक्रोशित ग्रामीणों ने ज़िम्मेदारों की मर चुकी आत्मा के शांति के लिए दसवाँ किया, दी चेतावनी की सत्याग्रह के तेरह दिन के अंदर अगर यहाँ सर्विस रोड का निर्माण शुरू नहीं हुआ तो तेरहवी संस्कार भी करेंगे। वाराणसी- प्रयागराज रखौना गाँव में गाँव बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले सर्विस रोड बनाने की माँग को लेकर चल रहे सत्याग्रह में कार्यदाई संस्था ग्रिल और एनएचएआई को पत्रक देने के बावजूद अब तक कोई विकल्प नहीं निकाला गया हैं। आक्रोशित लोगों ने ज़िम्मेदारो की मर चुकी आत्मा के शांति के लिए दसवाँ किया। इस दौरान प्राधिकरण के खिलाफ जमकर नारेबाज़ी की।

पूर्वांचल किसान यूनियन के अध्यक्ष योगीराज सिंह पटेल ने बताया कि सत्याग्रह के 13 वे दिन भोज का आयोजन कर आंदोलन की रूप रेखा पर मंथन कर उसे और तेज किया जाएगा। सर्व पितृ अमावस्या पर यहाँ श्राद्ध तर्पण भी किया गया था। अब ज़िम्मेदारों की तेरहवीं 10 अक्टूबर रविवार को यहाँ पर सुबह दस बजे से किया जायेगा। जिसमें तेरहवीं की सारी क्रियायें कराकर प्रसाद वितरण भोज का कार्यक्रम रखा गया। उक्त आयोजन को लेकर जिले के सभी अधिकारियों, राजनेताओं, समाजसेवियों, राजनैतिक दलों और सामाजिक संगठनों सहित आम क्षेत्र वासियों को विधिवत शोक संदेश पत्र देकर आमंत्रित किया जाएगा।

सत्याग्रहियों का कहना है कि जब तक सर्विस लेन का निर्माण शुरू नहीं किया जाएगा तब तक सत्याग्रह जारी रहेगा और वह और व्यापक होता जाएगा। बता दें कि रखौना में चल रहे सत्याग्रह को क्षेत्रीय विधायक नील रतन पटेल नीलू, आराजी लाईन ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि डा महेंद्र सिंह पटेल, प्रधान संघ के अध्यक्ष सांसद आदर्श गाँव नागेपुर के प्रधान मुकेश पटेल समेत राजनैतिक दलों  और सामाजिक संगठनों ने भी अपना समर्थन दिया हुआ है। संचालन राजकुमार गुप्ता ने किया। सत्याग्रह को योगीराज सिंह पटेल, अजीत कुमार सिंह, सुरेश राठौर, रेनू पटेल, गणेश शर्मा, सुक्खू सिंह ने सम्बोधित किया। सहित राजू यादव, श्याम सुंदर त्रिपाठी, मंगला यादव, सुरेश पटेल, हीरालाल यादव, कैलाश प्रसाद गोंड, जग्गल पटेल, ओमप्रकाश पटेल, शंकर दादा, अशोक पटेल, कुलदीप पटेल, नेहा, मुस्तफ़ा, निशा राय, मन्नू लाल पटेल, रामचन्दर पटेल, भाईलाल पटेल, जय प्रकाश पटेल आदि सैकड़ों लोग शामिल थे।