logo
पुस्तक लोकार्पण समारोह सम्पन्न
पुस्तक लोकार्पण समारोह सम्पन्न
 

वाराणसी। राजकीय पुस्तकालय  अर्दली बाजार वाराणसी में संत साहित्य के मर्मज्ञ विद्वान डॉ उदय प्रताप सिंह  अध्यक्ष  हिंदुस्तानी एकेडमी प्रयागराज के नव सृजित रचना विमर्श के आयाम पुस्तक के लोकार्पण एवं चर्चा संगोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रो हरिकेश सिंह पूर्व कुलपति जय प्रकाश नारायण विश्ववियालय छपरा ने किया ।उन्होने कहा कि डाँ उदय प्रताप सिंह ऐसे आलोचक है जो भाषा  साहित्य और समाज को एक साथ रखकर  मूत्यांकान करते है उनकी आलोचना प्रक्रिया में केवल साहित्य नही होगा वल्कि वे समाज ,राजनीति, संस्कृति और  इतिहास को एक साथ लेकर साहित्य का मूल्यांकन करते है।   लेखकीय वक्तव्य देते हुए डाँ उदय प्रताप सिंह ने कहा कि पुस्तक आलोचना परख निबन्धो का संग्रह है आलोचना भी कई प्रकार की  होती है यह उखड़ पछाड वाली पद्धति नहीं जिसमें मिलता वहुत कम उजड़ना अधिक है ।अपनी ही पुस्तक पर लिखना या कहना प्रकारान्तर से पिष्टपेषण होता हें पर लेखक के नाते इतना तो कह ही सकता हूँ कि यदि पूर्वाग्रह् मुक्त हो पाठक इसे पढ़ेगे तो कुछ नयी उद्भावनाएँ  अवश्य प्राप्त  होगी मुख्य अतिथि डॉ आनन्द कुमार सिंह  ने अपने उद् बोधन  में कहा डॉ उदय पताप सिंह की आलोचना का क्षेत्र न केवल विषय की दृष्टि से बल्कि कार्य की दृष्टि से भी अत्यधिक विस्तृत है। ... किसी आलोचक का मूल्यांकन मूलतः उस दृष्टिकोण का मूल्यांकन होता है जिसे वह अपनी कृतियों में धारण करता है।

डाँ जितेन्द्र नाथ मिश्रा  प्रो श्रद्वानन्द डाँ  अशोक कुमार सिंह डॉ उमेश चन्द सिंह प्रो सुमान जैन       ने भी विचार प्रकट किये  कार्यक्रम  का संचालन प्रो बाबुराम त्रिपाठी एवं  के० एस परिहार  ने धन्यवाद ज्ञापित किया  अतिथियों का  स्वागत श्री ओम् प्रकाश चौबे  ओम धीरज जी ने किया  डॉ अनुराग त्रिपाठी डाँ उमाशंकर शर्मा एवं विभा सिंह आदि लोग उपस्थित थे