logo
कमिश्नर ने जौनपुर, गाजीपुर, चंदौली में अपेक्षाकृत कम कोविड वैक्सिनेशन पर असंतोष व्यक्त किया
अधिक से अधिक सेशन संचालित कर 100 फीसदी वैक्सीनेशन सुनिश्चित करें-कमिश्नर
 
आशाओं को जिन कार्यों में मानदेय बनता है, उसे तत्काल भुगतान हो-दीपक अग्रवाल

वाराणसी। कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने गुरुवार को आयुक्त सभागार में मंडलीय विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की। स्वास्थ सेवाओं पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना अभी गया नहीं है, पूरी सजगता बरतें। अधिक से अधिक सेशन आयोजित कर शीघ्रताशीघ्र 100 फ़ीसदी वैक्सिनेशन सुनिश्चित किया जाए। बैठक में जौनपुर, गाजीपुर व चंदौली में कोरोना वैक्सीनेशन की अपेक्षाकृत कम प्रगति पर कमिश्नर असंतोष व्यक्त किया। फ्रंटलाइन वर्कर का तत्काल शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन सुरक्षित हो। उन्होंने कहा कि पानी डोज लेने वालों का दूसरी डोज का भी समय हो गया होगा, उसे अवश्य लगावाएं। बच्चों व गर्भवती महिलाओं का रूटिंन टीकाकरण समय से शत-प्रतिशत हो। बैठक में बताया गया कि मंडल में संचालित हेल्थ वैलनेस सेंटरो पर 37642 ओपीडी हुई है। ग्रामीण क्षेत्रों के इन हेल्थ सेंटरों पर मरीज देखने, दवा देने के साथ 06 विभिन्न जांचों की भी व्यवस्था है। कमिश्नर ने जिलाधिकारियों से कहा कि वह माह में 1 दिन स्वास्थ्य विभाग की अलग से बैठक कर मानिटरिंग कर ले। उनके इश्यू को शॉट आउट कराये और आकस्मिक रूप से हेल्थ वैलनेस सेंटरो के कार्य पद्धति की जानकारी कराएं। शासन द्वारा गांव-गांव बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं का प्रबंध किया है, उसका लाभ आमजन को मिले। आयुष्मान भारत के तहत गोल्डन कार्ड हर पात्र को उपलब्ध हो।
       

मंडल के जनपदों के मुख्य विकास अधिकारियों द्वारा पावर प्ले के माध्यम से पंचायत भवनों को ग्राम सचिवालय के रूप में क्रियान्वयन का प्रजेंटेशन दिया गया। इनमें सीसीटीवी कैमरा, अच्छा फर्नीचर, कंप्यूटर, नेट आदि व्यवस्था है। ग्राम स्तर की समस्त सेवाएं ग्राम सचिवालय से दी जा रही है। जन सेवा केंद्र के रूप में कार्य कर रहे हैं। ग्रामीण सामुदायिक शौचालयों को अच्छे से क्रियाशील रखने पर जोर देते हुए कमिश्नर ने कहा कि शौचालयों के साथ आर्थिक संसाधनों की बढ़ोतरी के प्रयास किए जाएं यथा-दुकान स्थापना, एडवरटाइजमेंट लिखाना, एटीएम स्थापना आदि किया जा सकता है। निर्माणाधीन शौचालय तत्काल गुणवत्ता से पूर्ण कराएं। पोषण मिशन में बनारस में 3 ब्लॉकों में अभिनव प्रयोग किया जा रहा है। जिसमें 3 ब्लॉकों के कुपोषित बच्चों व धात्र महिलाएं को अल्बेंडाजोल, मल्टी विटामिन, आयरन टेबलेट केंद्र पर खिलाने का कार्य किया जा रहा है। यह 100 दिन का कार्य रखा गया है। मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल ने इस कार्य योजना की विस्तार से जानकारी दी। गांव में साफ सफाई पर जोर देते हुए कमिश्नर ने जिलाधिकारियों से कहा कि आकस्मिक रूप से 1 दिन समस्त गांव में सफाई कर्मी के कार्यों का निरीक्षण कराएं। उन्होंने कहा कि विभिन्न जन सेवाओं के लिए जो बिल्डिंग निर्माण हो जाती है, उसे तत्काल मूल विभाग को हस्तांतरित करें और यह पर्यवेक्षण किया जाए कि उससे जन सेवा का कार्य प्रभावी रूप से संचालित हो रहा है तथा उसका प्रभाव परिलक्षित हो। बैठक में अन्य विभागीय योजनाओं की बिंदुवार समीक्षा की गई। बैठक में मंडल के जनपदों के जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारियों सहित विभिन्न विभागों व कार्रवाई संस्थाओं के अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।