logo
बरेका प्रशाशनिक भवन में लगी आग से हड़कम्प
रात में पंखा न बंद करने से हुआ शार्ट सर्किट, अग्निशमन दस्ते ने आग पर पाया काबू
 
वाराणसी। बनारस रेल कारखाना में आज बड़ा हादसा होते-होते टल गया। दरअसल यांत्रिक अभियंता के कार्यालय में लगी आग को कर्मचारियों ने समय रहते ही बुझा दिया वरना यहां से कई भवनों में आग लगती तो बड़ा हादसा होना तय था। दरअसल बुधवार की सुबह प्रशासनिक भवन के (यान्त्रिक अभियन्ता कार्मिक)  कार्यालय में अचानक आग लग गयी।धुंआ उठने व आग की जानकारी मिलते ही वहां मौजूद कर्मियों ने फायर ब्रिगेड को सूचित किया। सब सक्रिय हुए तो कर्मचारियों के मदद से कुछ देर बाद ही आग पर काबू पा लिया गया ,कोई ज्यादा क्षति नही हुई। बताया गया कि आग सुबह लगभग साढ़े सात बजे लगी।  दरअसल रात में वहां लगे पंखे को किसी ने बन्द नही किया। जिसके चलते पंखा गरम हो शकर शार्ट सर्किट की चपेट में आ गया। सम्भवतः पंखे से निकली चिंगारी की वजह से ही ऊपर रखी कुछ फ़ाइले जल गयी। अचानक आग का धुंआ जब पहली मंजिल पर पहुँचा तो फायर अलार्म भी बजने लगे। ड्यूटी पर मौजूद आरपीएफ के जवान दौड़ कर मौके पर पहुचे और आनन फानन में फायर ब्रिगेड को भी सूचना दी। आग बुझाने के दौरान बरेका अग्निशमन अधिकारी केएन तिवारी खुद भी मौजूद रहे। इधर आग लगने की सूचना पाकर मौके पर प्रमुख मुख्य यान्त्रिक अधिकारी प्रदीप कुमार व प्रमुख मुख्य यान्त्रिक अभियंता अमिताभ , मुख्य सुरक्षा अधिकारी नितिन मेहरोत्रा और महानिरीक्षक आरपीएफ (प्रधान मुख्य सुरक्षा) रणवीर सिंह चौहान, मुख्य विद्युत अभियंता केएन सिंह आदि ने पहुंचकर मौका मुआयना किया।