logo
लोकमंगल की कामना लिए सीएम योगी करेंगे छठी मइया को नमन

लक्ष्‍मण मेले पर बहेगी भोजपुरी बयार, सीएम करेंगे छठ उत्‍सव की शुरुआत

 

पिछले साढ़े चार सालों में योगी सरकार ने भोजपुरी समाज को दी कई बड़ी सौगातें ,भोजपुरी समाज ने सीएम के फैसले का किया स्‍वागत

लखनऊ । पूर्वांचल के लोगों की आस्‍था का सम्‍मान करते हुए पिछले साढ़े चार सालों में योगी सरकार ने प्रदेश में भोजपुरी समाज के लिए कई अहम फैसले लिए हैं। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने पूर्वांचल के महापर्व छठ को लेकर एक ओर प्रदेश के घाटों के कायाकल्‍प, साफ सफाई पर विशेष जोर दिया है तो वहीं पूर्वांचलवासियों को छठ महापर्व के अवसर पर पूर्वांचल एक्‍सप्रेसवे के रूप में एक बड़ा तोहफा योगी सरकार देने जा रही है। वहीं, पिछले साल क्षेत्रीय भाषा का मान बढ़ाते हुए  योगी सरकार ने यूपी 112 हेल्‍पलाइन में दूसरी क्षेत्रीय भाषाओं के साथ भोजपुरी भाषा को जोड़ने का फैसला लिया था। यूपी में भोजपुरी समाज के हित में कई बड़े फैसलों को लेने वाले सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने इस बार भी महापर्व छठ पर स्‍थानीय स्‍तर पर सार्वजन‍िक अवकाश की घोषणा कर बड़ी सौगात दी है। सीएम की इस बड़ी घोषणा के बाद भोजपुरी समाज में उत्‍साह देखने को मिल रहा है।

अखिल भारतीय भोजपुरी समाज के अध्यक्ष प्रभुनाथ राय ने मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ का आभार व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि हम पूरा भोजपुरिया समाज के तरफ से माननीय मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के हृदय से आभार व्‍यक्‍त करत बानी। हर प्रदेश से बढ़‍िया हमार यूपी नंबर वन बा। सीएम योगी आदित्‍यनाथ जवन तरह से सनातन रीति रिवाज और संस्‍कृति के पुर्नउत्‍थान का काम करत बाडें उ काबिलेतारिफ बा। हम सभन के तरफ से छठी मइया से करबद्ध प्रार्थना बा की फेरू से योगी जी के मुख्‍यमंत्री बनावें।

घाटों पर कोविड हेल्‍पडेस्‍क, थर्मल स्‍क्रीनिंग का इंतजाम

लोकमंगल की कामना लिए सीएम योगी आदित्‍यनाथ बुधवार को लखनऊ के लक्ष्‍मण मेला घाट पर छठी मइया को नमन करने संग छठ उत्‍सव की शुरूआत करेंगे। लाखों लोगों की आस्‍था से जुड़े इस पावन पर्व को लकर सीएम सभी इंतजामों पर अपनी पैनी नजर बनाए हुए हैं। प्रशासन की ओर से पूजास्‍थलों, घाटों पर विशेष इंतजाम किए गए हैं। लाइंटिंग, टेंट, रंगाई, पानी की व्‍यवस्‍था के साथ कोरोना प्रोटोकॉल का पालन हो इसका विशेष ध्‍यान रखा गया है। घाटों पर कोविड हेल्‍पडेस्‍क, थर्मल स्‍क्रीनिंग के साथ ही कुछ घाटों पर वैक्‍सीनेशन कैंपों को भी लगाया गया है।