logo
समय बढ़ा तो दुकानदारों को भी मिला सकून
वाराणसी। कोरोना के चलते लंबे समय से बंद चल रहे बाजारों में आज से कई नई दुकानों के खुलने व खरीदारों के आने से व्यापारियों के चेहरे खिल गए। कोरोना कर्फ्यू में ढील के बाद आर्थिक गतिविधियां भी अब तेज हो गई। बता दें कि संक्रमण की कम हुई रफ्तार के बाद काशी में लागू …
 
समय बढ़ा तो दुकानदारों को भी मिला सकून

वाराणसी। कोरोना के चलते लंबे समय से बंद चल रहे बाजारों में आज से कई नई दुकानों के खुलने व खरीदारों के आने से व्यापारियों के चेहरे खिल गए। कोरोना कर्फ्यू में ढील के बाद आर्थिक गतिविधियां भी अब तेज हो गई। बता दें कि संक्रमण की कम हुई रफ्तार के बाद काशी में लागू कोरोना कर्फ्यू में रियायत शुरू दी गई है। अब दोपहर एक बजे की बजाय अपराह्न चार बजे तक बाजार खुलने का आदेश मिला तो तमाम बाजार गुलजार हो गए। आज दूध, सब्जी, ब्रेड, बेकरी, भोजन सामग्री की दुकानें, अनाज-गल्ले की रिटेल दुकानें, मिठाई, आबकारी दुकानें, सब्जी, फल के साथ ही इलेक्ट्रानिक, इलेक्ट्रिक, घड़ी व मोबाइल की दुकानों को भी प्रतिबंध से बाहर किया गया है।

आसन्न बोर्ड परीक्षा को ध्यान में रखते हुए कापी-किताब और स्टेशनरी की दुकानों को भी खोलने की छूट दे दी गई। परन्तु धार्मिक प्रतिष्ठान, शॉपिंग कांप्लेक्स, मॉल आदि पहले की तरह फिलहाल बंद रहेंगे। शादी समारोह सहित अन्य आयोजनों पर भी पहले के तरह ही नियम लागू हैं। बाजारों के गुलजार होने से मार्केट में आज से कुछ खरीदार भी बढ़ गए तो 3 घण्टे समय बढ़ने से दुकानदारों को समय के साथ सकून भी मिला। जिनके घरों में पढ़ने वाले बच्चे थे वह लोग अपने बच्चों के लिए कॉपी किताब वन्य स्टेशनरी का सामान खरीदते देखे गए। अन्य दुकानों पर भी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ लोग अपनी जरूरत का सामान खरीदते देखे गए। प्रशासनिक आदेश आने के बाद इलाकाई पुलिस का रवैया भी आज कुछ ढीला रहा।