logo
चंदापुर में बालिकाओं ने रैली निकाल कर माँगा बराबरी का हक
आशा ट्रस्ट ने अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर बालिका महोत्सव का आयोजन किया
 
प्रधानमंत्री से सार्वजनिक स्थलों पर सामुदायिक शौचालय की माँग किया

रोहनिया- अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर  सैकड़ों बालिकाओं ने भ्रूणहत्या,दहेज व बालविवाह  के खिलाफ  रैली निकाली। आशा ट्रस्ट व लोक समिति द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सोमवार को चंदापुर बाजार से प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम जयापुर में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ  रैली निकाली। जिसमें चंदापुर,असवारी,पयागपुर,भीखमपुर,ढढोरपुर, मुंगवार,भीमचण्डी, जयापुर व आसपास के गांव से सैकड़ों किशोरी लड़कियों शामिल हुई। रैली में शामिल लड़कियां बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, नजरे नही झुकना है आगे बढ़ते जाना है, भ्रूणहत्या बंद करो,बाल विवाह बंद करो, तिलक दहेज़ बन्द करो,आदि नारे लगा रही  थी। रैली में शामिल लड़कियों ने प्रधानमंत्री से दहेज लोभियों,व गर्भ में लड़कियों को मारने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की माँग किया। रैली में बड़ी संख्या में मुस्लिम लड़कियां और महिलाएं भी शामिल हुई।
रैली के बाद  चंदापुर बाजार में बालिका महोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन आशा सामाजिक विद्यालय के प्रधानाचार्य श्यामसुन्दर और प्रेरणा कला मंच के संयोजक मुकेश झंझरवाल ने  दीप जलाकर किया। लड़कियों ने भ्रूण हत्या, दहेज, बालविवाह, गैरबराबरी, लड़कियों के यौन उत्पीड़न आदि पर , नाटक, भाषण, व सांस्कृतिक कार्यक्रम किया।

प्रधानमंत्री से सार्वजनिक स्थलों पर सामुदायिक शौचालय की माँग किया

इस अवसर पर प्रेरणा कला मंच द्वारा बालिका शिक्षा पर आधारित नुक्कड़ नाटक कमला का कमाल प्रस्तुत किया गया।इस अवसर पर लोक समिति संयोजक नन्दलाल मास्टर ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने लड़कियों को समाज में बराबरी के लिए बहुत प्रोत्साहित कर रहे है, लेकिन जब तक समाज जागरूक नही होगा लड़कियों और महिलाओं पर अत्याचार होता रहेगा। लड़कियों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिय आराजी लाइन और सेवापुरी ब्लाक के दर्जनों गाँव में बालिका हिंसा विरोधी पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है। महिला संगठन की संयोजिका अनीता पटेल ने कहा कि दहेज,बाल विवाह व कन्या भ्रूण हत्या समाज में अभिशाप है, इसे जड़ से मिटाना होगा। किशोरी संगठनकी संयोजिका सोनी ने ने कहा कि सरकार स्वच्छ भारत व बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान चलाकर अच्छी पहल किया है, लेकिन सार्वजनिक स्थलों,बाजार और स्कूलों में सामुदायिक शौचालय नही होने के कारण महिलाओं को बाहर निकलने और लड़कियों को स्कूल जाने में दिक्कत होती है। कार्यक्रम में अतिथियों का स्वागत आशा राय व तपस्सुन ने किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता बेबी, संचालन सीमा और धन्यवाद ज्ञापन कार्यक्रम संयोजिका मैनम बानो ने किया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से बेबी,रेनू, राजकुमारी, गिरी,आशा राय, मैनमबानो,अनीता,सरोज,मधुबाला,सोनी, रामबचन,सुनील,श्यामसुन्दर,अमित आदि ने अपने विचार रखे।