logo
करीब 15 लाख दीयों से काशी के घाट होंगे जगमग, कुछ ही सालों में लोकल से ग्लोबल बनी देव दीपावली

मुख्यमंत्री के टीकाकरण प्रबंधन से देव दीपावली को लेकर बढ़ा उत्साह

 
19 नवंबर को वाराणसी में मनाई  जाने वाली देव दीपावली इस बार और होगी भव्य ,योगी सरकार ने पर्यटकों की सुरक्षा के किए पुख्ता इंतजाम

वाराणसी : योगी सरकार के टीकाकरण प्रबंधन का असर भी इस देव दीपावली में देखने को  मिल रहा है। लोगों में टीकाकरण के कारण आत्मविश्वास पैदा हुआ है। इस कारण कुछ ही सालों में लोकल से ग्लोबल बनी  काशी की देव दीपावली इस साल  और भव्यता से मनाई जा रही है। उत्तर वाहिनी गंगा के अर्धचंद्राकार  84 घाटों पर 13 लाख दीपक जलाए जाएंगे। गंगा पार भी दो  लाख दीपक रोशन किए जाएंगे। इसके अलावा काशी के कुंडों और तालाबों पर भी दीपोत्सव की रोशनी दिखेगी। इस साल देव दीपावली को देखने के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक वाराणसी आ रहे हैं। घाटों की सफ़ाई, साज-सज्जा के काम को समिति और प्रशासन अंतिम रूप दे रहे हैं। 

योगी सरकार ने सांस्कृतिक नगरी काशी में  पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए  देव दीपावली को भव्य रूप दे रही है। उत्तरवाहिनी गंगा के किनारे बसे 84 घाटों पर 13 लाख  दीपों  की शृंखला मां गंगा  का हार बनेगी। योगी सरकार ने देव दीपावली के मौके पर बैलून फ़ेस्टिवल का भी आयोजन  किया है। साथ ही चेत सिंह घाट पर लेज़र शो का आयोजन किया गया है। अस्सी घाट पर ई-आतिशबाज़ी भी होगी, जो पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र होगी। प्रधानमंत्री के प्रयासों से कनाडा से भारत वापस आई और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पुनर्स्थापित मां अन्नपूर्णा  की मूर्ति की अनुकृति का कटआउट भी घाट पर दिखेगा। दशाश्वमेध घाट पर इंडिया गेट की रिप्लिका को भी अंतिम रूप दिया जा रहा है। देव दीपावली पर बड़ी संख्या में पर्यटकों को देखते हुए योगी सरकार ने सुरक्षा के भी पुख़्ता इंतज़ाम किए हैं। घाटों पर  ड्रोन कैमरे से नज़र रखी जाएगी और पेट्रोलिंग की जाएगी।