logo
मंत्री नीलकंठ ने कराया दिव्यांग व अनाथ जनों का वैक्सिनेशन
वाराणसी। लावारिस असहाय मानव स्वरूप प्रभु सेवा केंद्र अपना घर आश्रम वाराणसी में रह रहे 148 दिव्यांग अनाथ असहाय प्रभु जनों हेतु कोविड वैक्सीनेशन की अत्यंत आवश्यकता थी। विदित हो कि यह लावारिस अनाथ असहाय मानव स्वरूप प्रभु जैन जो हमारे ही समाज के अंग हैं, जो किन्हीं कारणों से परित्यक्त अवस्था में सड़कों पर …
 
मंत्री नीलकंठ ने कराया दिव्यांग व अनाथ जनों का वैक्सिनेशन

वाराणसी। लावारिस असहाय मानव स्वरूप प्रभु सेवा केंद्र अपना घर आश्रम वाराणसी में रह रहे 148 दिव्यांग अनाथ असहाय प्रभु जनों हेतु कोविड वैक्सीनेशन की अत्यंत आवश्यकता थी। विदित हो कि यह लावारिस अनाथ असहाय मानव स्वरूप प्रभु जैन जो हमारे ही समाज के अंग हैं, जो किन्हीं कारणों से परित्यक्त अवस्था में सड़कों पर जीवन के अंतिम क्षणों को गिन रहे होते हैं। इनके पास कोई पहचान पत्र, आधार कार्ड आदि की सुविधा नहीं होती है। इसी कारण से आज तक हम लोग उनका वैक्सीनेशन करवाने में सक्षम नहीं हो पाए। लेकिन प्रधानमंत्री के निर्देशानुसार जब बिना आधार कार्ड के भी पंजीकरण किया जाने का प्रावधान हुआ।

उत्तर प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य एवं प्रोटोकॉल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ0 नीलकंठ तिवारी के अथक प्रयास से वाराणसी जिला प्रशासन एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय के द्वारा अपना घर आश्रम वाराणसी में आज मंगलवार को वैक्सीनेशन का कार्यक्रम आयोजित हुआ। इस कार्यक्रम में दिव्यांग बंधु डॉक्टर उत्तम ओझा, क्षेत्रीय विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह, समाजसेवी केशव भाई जालान, श्याम सुंदर प्रसाद एवं अनेकानेक गणमान्य जन के साथ आश्रम प्रतिनिधि उपस्थित रहे। कोविड काल में प्रभु जनों का वैक्सिनेशन होते देखकर सबों को हार्दिक खुशी हुई। ज्ञात हो कि आज मंत्री डॉ0 नीलकंठ तिवारी के हाथों आश्रम से एक प्रभु जन प्की विदाई भी हुई। जो करीब 10 दिन पूर्व वाराणसी कैंट स्टेशन पर लगभग मृतप्राय अवस्था में पाए गए थे। आज उनके बच्चे पश्चिम बंगाल के वर्धमान जिले से आकर सकुशल उन्हें आश्रम से विदा कराकर ले गए, जिसके साक्षी सभी लोग बने।