logo
वाटर रिचार्ज करेगा मल्टीपल हैंडवाश यूनिट
पिंडरा। भूगर्भ जल संरक्षण दिवस पर गुरुवार को सिद्धांत के अनुरूप निर्मित नमामि गंगे हस्त प्रक्षालन केंद्र (मल्टिपल हैंडवाश यूनिट) प्राथमिक विद्यालय फूलपुर का लोकार्पण बीइओ अशोक सिंह द्वारा किया गया। वास्तु एवं उपयोगिता के साथ प्रदेश में सबसे अद्वितीय किस्म का हैंडवाश यूनिट है। इसे प्रधानाध्यापक डॉ कुँवर पंकज सिंह ने स्वयं ही डिजाइन …
 
वाटर रिचार्ज करेगा मल्टीपल हैंडवाश यूनिट

पिंडरा। भूगर्भ जल संरक्षण दिवस पर गुरुवार को सिद्धांत के अनुरूप निर्मित नमामि गंगे हस्त प्रक्षालन केंद्र (मल्टिपल हैंडवाश यूनिट) प्राथमिक विद्यालय फूलपुर का लोकार्पण बीइओ अशोक सिंह द्वारा किया गया। वास्तु एवं उपयोगिता के साथ प्रदेश में सबसे अद्वितीय किस्म का हैंडवाश यूनिट है। इसे प्रधानाध्यापक डॉ कुँवर पंकज सिंह ने स्वयं ही डिजाइन किया है। हैंडवाश यूनिट देखने मे एक विशाल नाव की प्रतिकृति मात्र न होकर अपितु 30 टोटीयुक्त एक मल्टिपल हैंडवाश यूनिट है । जिसे बाल मैत्रिक रूप से बनाया गया है। इसमें बीच की ऊंचाई कक्षा 1के छात्रों के अनुरूप तथा नाव के बाहरी किनारों की ओर बढ़ते हुए क्रमशः 2,3,4,और आखिरी छोर पर कक्षा 5 के छात्रों के लम्बाई को दृष्टिगत रखते हुए बनाया गया है। नाव के भीतरी स्वरूप का उपयोग एक सिंक के रूप मे करते हुये इसके पेंदी में इकठ्ठा हुए जल को, एक मोटी पाइप के माध्यम से एक चैम्बर तक ले जाकर हैंडपम्प के अनुपयोगी/ निष्प्रयोज्य बोर के द्वारा जमीन के अन्दर भेज दिया गया है।जिससे वाटर रिचार्ज हो सके। 307 छात्र छात्राओं द्वारा हैंडवाश के समय नित्यप्रति 500 लीटर से अधिक पानी का उपयोग होगा। जब अपने इस विचार को बीएसए राकेश सिंह व खण्ड शिक्षा अधिकारी अशोक सिंह को बताया तो उनके मार्गदर्शन व सहयोग के पूर्ण हुआ। आज प्रदेश स्तर पर अनोखा नमामि गंगे हस्त प्रक्षालन केंद्र अपने मूर्त रूप में है।