logo
अब अन्त्योदय कार्ड धारकों को भी मिलेगा आयुष्मा योजना का लाभ

सोमवार को शिवपुर शहरी सीएचसी पर आयोजित होगा ‘आयुष्मान अंत्योदय के द्वार’ कार्यक्रम

 

वाराणसी। "आयुष्मान भारत–प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना" व "मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान" से छूटे लाभार्थियों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान से जोड़ा जा रहा है। इस क्रम में शासन के निर्देशानुसार अन्त्योदय कार्ड (लाल कार्ड) धारकों को भी आयुष्मान भारत योजना का लाभ मिलेगा। इस आशय की जानकारी जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के द्वारा दी गयी। जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया है कि जनपद के समस्त अंत्योदय कार्ड धारकों को यथाशीघ्र आयुष्मान कार्ड उपलब्ध कराया जाए। मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल ने बताया कि जनपद में 49,498 अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ मिलेगा। इसमें शहरी इलाकों में 6592 और ग्रामीण क्षेत्रों में 42906 अंत्योदय कार्ड धारक परिवार शामिल हैं। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि 11 अक्टूबर को आयोजित होने वाले 'आयुष्मान अंत्योदय के द्वार' कार्यक्रम में अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों को कोटेदारों के माध्यम से अवगत कराते हुए कार्यक्रम में  आयुष्मान कार्ड बनवाना सुनिश्चित किया जाए। 

अपर निदेशक/मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ वीबी सिंह ने बताया कि सोमवार को जनपद स्तरीय मुख्यालय पर शहरी सीएचसी शिवपुर में ‘आयुष्मान अंत्योदय के द्वार’ कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। जिसमें अंत्योदय कार्ड धारकों को आयुष्मान कार्ड (गोल्डन कार्ड) बनाया एवं वितरित किया जाएगा। इसी तरह ग्रामीण स्तर पर प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर ‘आयुष्मान अंत्योदय के द्वार’ कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर अन्त्योदय कार्ड धारकों को आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए प्रेरित कर रही हैं। अन्त्योदय कार्ड धारकों को अपना कार्ड लेकर नजदीकी जन सेवा केंद्र जाना है, जहां उनका आयुष्मान कार्ड नि:शुल्क बनाया जाएगा। अन्त्योदय कार्ड धारक हर माह राशन डीलर से रियायती राशन प्राप्त करते हैं, इसलिए राशन डीलरों को भी अन्त्योदय कार्ड धारकों को अपना आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए प्रेरित करने की जिम्मेदारी दी गई है।

उपरोक्त परिवारों के लोगों को आयुष्मान भारत योजना के तहत कवर किये जाने के शासनादेश प्राप्त होने के बाद सभी के आयुष्मान कार्ड बनवाए जा रहे हैं। आयुष्मान भारत योजना के तहत हर परिवार को हर वर्ष पांच लाख तक का नि:शुल्क उपचार उपलब्ध कराया जाता है। लाभार्थी योजना से आबद्ध निजी और सरकारी अस्पतालों में उपचार प्राप्त कर सकते हैं। योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी का आयुष्मान कार्ड होना जरूरी है। पहले से आयुष्मान भारत योजना में शामिल लाभार्थी और अन्त्योदय कार्ड धारक योजना से आबद्ध अस्पतालों के अलावा किसी भी जन सेवा केंद्र में जाकर आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं। इसके लिए अंत्योदय कार्ड और आधार कार्ड साथ में लाना जरूरी है। यह कार्ड पूरी तरह नि:शुल्क बनाया जाता है। यदि कोई कार्ड बनाने के नाम पर पैसे की मांग करे तो उसकी शिकायत सीएमओ कार्यालय में की जा सकती है।