logo
प्राइवेट स्कूलों में संचालक नहीं बढ़ा सकेंगे फीस
वाराणसी। यदि आपके बच्चे प्राइवेट स्कूलों में पढ़ते हैं तो यह खबर आपके लिए जानना जरूरी है । दरअसल अलग-अलग बोर्डों से मान्यता प्राप्त स्कूलों के संचालक शिक्षासत्र 2021-22 में छात्रों की फीस में वृद्घि की सोच रहे थे जो अब नहीं कर सकेंगे। यही नहीं बढ़ाकर लिया गया शुल्क भी आगामी माह के शुल्क …
 
प्राइवेट स्कूलों में संचालक नहीं बढ़ा सकेंगे फीस

वाराणसी। यदि आपके बच्चे प्राइवेट स्कूलों में पढ़ते हैं तो यह खबर आपके लिए जानना जरूरी है । दरअसल अलग-अलग बोर्डों से मान्यता प्राप्त स्कूलों के संचालक शिक्षासत्र 2021-22 में छात्रों की फीस में वृद्घि की सोच रहे थे जो अब नहीं कर सकेंगे। यही नहीं बढ़ाकर लिया गया शुल्क भी आगामी माह के शुल्क में समायोजित करना होगा। इस बावत शासनादेश भी जारी हो चुका है। आदेश मिलते ही शिक्षा विभाग भी हरकत में आ गया है। शिक्षा विभाग ने सभी स्कूलों के संचालकों को इस संबंध में दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए हैं। बता दें कि स्कूलों का नया शिक्षा सत्र एक अप्रेल से शुरू होता है। कोरोना संकट के चलते 30 जून तक स्कूलों में अवकाश घोषित किया जा चुका है। जुलाई माह में सरकार परिस्थितियों के अनुसार स्कूल खोलने का निर्णय लेगी। कोरोना संकट के चलते मध्यमवर्गीय परिवारों की कमर पहले ही टूट चुकी है। ऐसे में सरकार द्वारा आर्थिक राहत देने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। शासनादेश के बाद विद्यालय संचालक शिक्षासत्र 2020-21 में निर्धारित शुल्क ही ले सकेंगे। जब तक विद्यालय बंद रहेंगे तब तक क्रीड़ा, विज्ञान, प्रयोगशाला, लाइब्रेरी, कंप्यूटर, वार्षिकोत्सव, परिवहन आदि गतिविधियों का कोई शुल्क देय नहीं होगा। यदि किसी अभिभावक को किसी माह का शुल्क देने में कठनाई होगी तो उस शुल्क को किश्तों के रूप में लिया जाएगा।